आम की ये किस्म किसानों को करेगी मालामाल, 1200 रूपये में बिकता हैं इसका एक आम

आम किसको पसंद नहीं है ? भारत का हर यक्ति गर्मी के मौसम में आम का बेसब्री से इंतजार होता है। भारत मै आम को ‘फलों का राजा’ कहा जाता है। लेकिन आज हम आपको एक ऐसे आम के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे ‘आमों की रानी’ कहा जाता है जिसका नाम है ‘नूरजहां’

आम किसे पसंद नहीं करता? भारत में हर कोई गर्मी के मौसम में आम का बेसब्री से इंतजार करता है। भारत में आम को ‘फलों का राजा’ कहा जाता है। लेकिन आज हम आपको ‘आम की रानी’ नामक एक आम के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसका नाम ‘नूरजहाँ’ है

Advertisement

‘नूरजहां’ आम की किसम जो अफगानिस्तान की मूल किसम है। इंडिया मै इस किस्म के आम सिर्फ मध्य प्रदेश के अलीराजपुर जिले के कट्ठीवाड़ा इलाके में ही पाए जाते हैं। लेकिन इस किसम मै ऐसा क्या है जो लोग इसके एक आम का ही 1200 देने के लिए त्यार हो जाते है

आप को जानकर हैरानी होगी कि इसकी गुठली का वजन भी 200 ग्राम तक होता है। और इस आम की लम्बाई एक फ़ीट से भी ज्यादा हो सकती है। और इसकी मांग इतनी ज्यादा है के इस आम की बुकिंग तभी से शुरू हो जाती है जब ये ठीक से पक्के भी नहीं होते।

इन्हीं खासियत की वजह से इसके नार्मल वज़न वाले नूरजहां’ आम करीब 700-800 रुपए और ज़्यादा वज़न वाले नूरजहां’ आम का दाम 1200 तक हो सकता है। इस एक आम का वजन 2.5 किलोग्राम के आस-पास होता है। हालांकि पहले के जमाने में इसका वजन 4 किलो के करीब होता था।

आम का वजन लगातार बदल रहे मौसम के चलते कम हुआ है। बारिश में देरी, बहुत कम बारिश ,जा फिर बहुत ज्यादा बारिश इसका मुख्य कारण है। ‘नूरजहां’ की फसल पिछले साल बीमारी के चलते पूरी तरह से बर्बाद हो गई थी लेकिन आम की इस दुर्लभ किस्म के शौकीनों के लिए अच्छी खबर है

कि मौजूदा मौसम में इसके पेड़ों पर फलों की बहार आ गई है। आम के उत्पादन के मामले में भारत दुनिया का सरताज है. दुनियाभर में आम की करीब 1400 किस्में पाई जाती हैं, इनमें से 1000 किस्में सिर्फ और सिर्फ भारत में पैदा होती हैं।