ऐसे करें तुलसी की खेती,10 बीघा जमीन से हो सकती है 2.5 लाख की कमाई

तुलसी एक गुणकारी पैदा है और साथ में इसका धार्मिक महत्व भी है जिस जगह पर भी तुलसी माँ का वास होता है वहा सुख-शांति एवं आर्थिक समृद्धता अपने आप आ जाती है। इसके इलावा इसके औषधीय गुण भी होते है जिसके कारण इसका इस्तमाल सुंदरता उत्पादों के साथ साथ दवाई बनाने में होता है । इसी लिए इसकी इतनी मांग है आज हम आपको एक ऐसे ही किसान के बारे मैं बताना चाहते है जो तुलसी की खेती (Tulsi ki kheti ) से सिर्फ 10 बीघा जमीन से 15000 खर्चा करके 2.5 की कमाई कर रहा है ।

किसान को मिला 2 लाख 85 हजार रुपए का शुद्ध लाभ

Advertisement

तुलसी की फसल त्यार होने में सिर्फ 3 महीने का सम्य लगता है । उज्जैन के एक किसान अनोखीलाल पाटीदार ने शुरू में सिर्फ 10 बीघा खेत में तुलसी की खेती की शुरू की 1 बीघा जमीन पर 1500 रुपए का खर्च आता है इस हिसाब से से 10 बीघा जमीन पर कुल लागत 15000 रुपए आई। किसान ने तुलसी की फसल को 3 लाख रु में बेचा दिया इस तरह पहले ही साल 2 लाख 85 हजार रुपए की कमाई हुई।

बिजाई और कटाई का सही समय

जुलाई का महीना तुलसी के पौधे को खेत में लगाने का सबसे सही समय होता है। पौधे 45×45 CM के दुरी पर लगाए जाना चाहिए। तुलसी के पौधों को लगाने के बाद तुरंत हल्की सिंचाई करना जरूरी है। उसके बाद भी हफ्ते में कम से कम एक बार पानी जरूर देना चाहिए है और कटाई से ठीक 10 दिन पहले सिंचाई देना बिलकुल बंद कर देना चाहिए।

तुलसी के पौधों की पत्तियां हरे रंग की होने लगती हैं, तभी इनकी कटाई करने का सही समय है। सही समय पर कटाई न करने पर \पौधे पर फूल आने लगते है जिसके कारण तेल मात्रा कम हो जाती है, इसलिए जब पौधे पर फूल आना शुरू हो जाएं, तब इनकी कटाई शुरू कर देना चाहिए।

कहाँ बेचें अपना माल

फसल पैदा करने से फसल को बेचना ज्यादा बड़ी मुश्किल होती है किसान मंडी एजेंट्स के जरिए अपना माल बेच सकते हैं। इसके इलावा सीधे किसान मंडी में जाकर भी खरीददारों से संपर्क कर सकते हैं। किसान किसी कंपनी से कॉन्ट्रैक्ट भी कर सकते है बहुत सारी दवा कंपनियों जैसे पतंजलि किसानो से कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग से खेती करवाती है ।