अब बिना बिजली और पानी के किसान कर सकते है खेती, जानें कैसे

अगर हम आपको कहे की एक किसान बिना बिजली और पानी के खेती कर रहा है,इस बात पर एक बार तो आपको यकीन नहीं होगा लेकिन ये सच्च है, आज हम आपको ऐसी तकनीक के बारे में बताने जा रहे है जिस के मदद से आप बिना बिजली और पानी के खेती कर सकते है ,

अगर आपके इलाके में पानी निचे चला गया हो तो एक ऐसा मॉडल भी है जिस से ऐसे इलाके में आप खेती कर सकते है । यह मॉडल राजस्थान के जोधपुर में लगाया गया है । इस मॉडल की मदद से वहां पर अनार की खेती की गई है ।

Advertisement

अब आप सोच रहे होंगे की इसकी सिंचाई के लिए पानी कहाँ से आता है । तो इसका जवाब है इसका सारा पानी बरसात का होता है । इस बार मानसून में गिरने वाला 80% पानी को एक तालाब में इकठा कर लिया था । इस तालाब की क्षमता 1.75 लाख लीटर है ।

अब इस तालाब के पानी से ही 225 अनार के पौधों की सिंचाई की जाती है जिनको टेक्नोलॉजी पार्क में 0.30 हेक्टेयर में लगया गया है । पानी का सही तरिके से प्रयोग हो इस लिए प्लास्टिक से मल्चिंग की गई है । प्लास्टिक मल्चिंग का मतलब है के अनार के पौधों के निचे प्लास्टिक के शीट बिछा दी जाती है और पानी के लिए ड्रिप सिस्टम का इंतज़ाम किया जाता है ।प्लास्टिक शीट बिछाने का फ़ायदा ये है इस से न तो खरपतवार होते है और पानी की भी बहुत बचत होती है क्योंकि ऐसे करने से पानी वाष्पित नहीं होता ।

पानी देने के लिए और ड्रिप सिस्टम के लिए 3 H.P के सोलर पैनल लगाए गए है । प्लास्टिक शीटों की ढलान तालाब की ओर रखी गई है। ता जो बारिश आने पर सारा पानी तालाब में इकठा हो सके । इस तरह से हम बिना किसी बाहरी बिजली और पानी की मदद से हम आसानी से खेती कर सकते है ।