ख़ुशख़बरी ! नवंबर में मिलेगा सभी किसानों को इस सरकारी योजना का लाभ

किसानों को एक बड़ी ख़ुशख़बरी मिलने जा रही है। इस दिवाली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने करोड़ों किसानों को राहत देने का एलान किया है। किसानों को जो प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के रूप में सालाना छह हजार रुपये की धनराशि दी जाती है उसके लिए नवंबर तक आधार नंबर की जरूरत नहीं पड़ेगी।

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावेड़कर ने कहा कि नवबंर तक आधार नंबर की वजह से किसी किसान के पैसे नहीं रुकेंगे। ऐसा होने से किसानों को रबी की फसल के लिए राहत मिलेगी। रबी सीजन से पहले सभी पंजीकृत किसानों को पीएम-किसान योजना की किश्त की राशि उसके खाते में जमा कराने पर केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को मंजूरी दे दी।

ऐसा होने से करीब 1.25 करोड़ किसानों के बैंक खाते में 2000 रुपये की किश्त पहुंचने की राह आसान हो गई। ये फैसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में यहां केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में लिया गया। अब तक किसानों को अपना नाम पंजीकरण कराने के साथ उसे आधार नंबर से जोड़ना जरूरी कर दिया गया था। ऐसा करे बिना किसानों को योजना का पैसा नई दिया गया था।

लेकिन अब किसान 30 नवंबर तक अपना आधार लिंक कर सकते हैं। केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर का कहना है कि किसानों को रबी सीजन से पहले पैसे की सख्त जरूरत होती है, इसी कारण सरकार ने यह फैसला लिया है। अब तक सात करोड़ किसानों ने योजना के लिए रजिस्टर करा लिया है।

लेकिन अभी पश्चिम बंगाल और दिल्ली सरकार ने अपने यहां के किसानों को इस योजना का लाभ लेने की अनुमति नहीं दी है। राज्य सरकारों ने योजना में हिस्सा नहीं लिया है। वहीँ अग्रवाल ने कहा कि उत्तर प्रदेश के दो करोड़ से ज्यादा किसानों में से 1.57 करोड़ किसानों को पहली किश्त का लाभ मिला था, लेकिन अब किसानो को दूसरी किश्त का लाभ लेने के लिए आधार जोड़ना जरूरी है।