हमेशा संभाल कर रखें गाड़ी की दूसरी चाबी, वरना नहीं मिलेगा बीमा क्लेम, जानें नियम

हम सभी जब नई गाड़ी खरीदते हैं तो उसके साथ गाड़ी का इंशोरेंस करवाना कभी नहीं भूलते, क्योकि आज के दौर में हर कोई कार बीमा कर अपनी गाड़ी की सुरक्षा चाहता है। लेकिन आप एक बड़ी गलती करते हैं गाड़ी की चाबियों के मामले में। यानि मान लीजिए अगर कहीं आपको कार चोरी हो जाए तो बीमा कंपनी क्लेम देने से पहले दोनों चाबियां मांगती है।

लेकिन अगर आपके दोनों चाबियाँ नहीं हैं तो आपका क्लेम लेने का दावा खारिज हो सकता। माहिरों का मानना है कि जितना आसान बीमा कराना है, उतना ही मुश्किल क्लेम लेना है। इसीलिए बीमा कराते समय कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखना रखें, ताकि आपको क्लेम लेने में कोई मुश्किल न हो, तो आइये जानते हैं क्या हैं वो जरूरी बातें…

Advertisement

बीमा कंपनियों के दो चाबियाँ मांगने की वजह

दरअसल आपने देखा होगा कि बाइक, कार या और कोई गाड़ी खरीदते समय कंपनी आपको दो चाबियां देती है। ऐसा इसलिए क्योंकि अगर आपसे एक चाबी खो जाए तो आप दूसरी इस्तेमाल कर सकें। विशेषज्ञों का मानना है बीमा कंपनी फर्जी क्लेम से बचने के लिए ग्राहकों से दो चाबी की मांग करती है।

इसी तरह बीमा क्लेम पाने के लिए कंपनी काफी शर्तें रखती है। जैसे कि आपकी गाड़ी अगर लापरवाही के कारण चोरी हुई है, तो आपको कंपनी बीमा नहीं देगी। अगर आपने गाड़ी की चाबी गलती से अंदर छोड़ दी हो या दरवाजे को गलती से खुला छोड़ दिया और कार चोरी हो जाए फिर भी कंपनियां बीमा क्लेम देने से मना करती हैं।

दो चाबियाँ मांगने की सबसे बड़ी वजह है कि गाड़ी की एक चाबी खो जाने से आपकी गाड़ी किसी भी वक्त चोरी हो सकती है। आप चोरी से बचने के लिए नया लॉक लगवा सकते हैं। गाड़ी चोरी होने पर तुरंत पुलिस में एफआईआर दर्ज कराएं। क्योकि fir के बाद ही कंपनी दूसरी चाबी की मांग किये बिना क्लेम देती है।

कभी न करें ये गलती

कई लोग होशियारी में अपना नुकसान करवा लेते हैं बिलकुल वैसे ही अगर आप गाड़ी चोरी होने की स्थिति में नकली चाबी बनवा कर बीमा कंपनी को देते हैं, तो आपको इसमें भी नुकसान हो सकता है। इतना ही नहीं , ऐसा करने पर आपके ऊपर फर्जीवाड़े का भी मामला चलेगा। सजा के तौर पर आपको हर्जाना, जेल या दोनों हो सकती है।