बेटी के नाम पर खुलवाएं ये अकाउंट, बेटी के बड़ी होने पर मिलेंगे 74 लाख रुपए

 

अगर आप भी बाल दिवस के मौके पर अपने बच्चे को ऐसा तोहफा देना चाहते हैं, जो बच्चे का जीवन साकार कर सके,  तो आपको बता दें कि भारत सरकार द्वारा ऐसी बहुत सी योजनाएं चलाई जा रही जिनमे आप कम इन्वेस्टमेंट में ज्यादा रिटर्न पा सकते हैं। इन योजनाओं में से ज्यादातर डाकघरों में भी उपलब्ध है, जहां आप स्मॉल सेविंग स्कीम का फायदा उठा सकते हैं।

Advertisement

सरकार ने इसी स्कीम के तहत ही बेटियों के लिए भी एक योजना जारी की थी। जिसका नाम था सुकन्या समृद्धि योजना, और ये योजना आज भी चल रही है। खास बात ये है कि इस्पे मिलने वाले रिटर्न पर सरकार द्वारा किसी प्रकार का कोई टैक्स नहीं लगाया जाता। आपको बता दें कि आपको इस स्कीम में अपनी बेटी के नाम पर 15 साल तक अधिकतम 1.50 लाख रुपये सालाना का निवेश करना होगा।

आपकी बेटी जब 18 और 21 साल की होगी तब आप अपना पैसा निकाल सकेंगे। इस पैसे से बेटी की पढ़ाई और शादी में लाभ मिलेगा। आपको बता दें कि सुकन्या समृद्धि पर इस समय 8.1 फीसदी ब्याज दिया जा रहा है। अगर इस योजना की ब्याज दर में कोई परिवर्तन नहीं होता तो आपकी बेटी की उम्र 21 साल पूरे होने पर उसे 74 लाख रुपये मिलेंगे। खास बात ये है कि इस राशि पर किसी तरह का कोई टैक्स भी नहीं देना पड़ेगा।

लेकिन अगर आपकी बेटी की उम्र 10 साल तक है तो आप सुकन्या समृद्धि योजना के तहत अकाउंट खोल सकते हैं। अगर आपको इससे पहले पैसे की जरूरत पड़ती है तो आप बेटी के 18 साल की उम्र होने पर अकाउंट में जमा 50 फीसदी राशि को निकाल सकते हैं। इस निकासी पर भी आपको किसी प्रकार का कोई टैक्स नहीं देना होगा।

कैसे खुलवाएं खाता

इस योजना के तहत आप आप देश के किसी भी डाकघर या फिर बैंकों में खाता खुलवा सकते हैं। इसके लिए डाकघर और बैंक में जाकर आप फार्म भरने के बाद नकद, ड्राफ्ट या चेक की मदद से पैसा जमा करवा सकते हैं। इसके बाद खाता खुल जाएगा और आपको इस खाते की पासबुक भी मिल जाएगी। आप इसके बाद किसी भी तरीके से इसमें पैसा जमा करवा सकते हैं।

जरूरी दस्तावेज़

अपने बेटी के लिए ये खाता खुलवाने के लिए आपको बेटी का जन्म प्रमाण पत्र, माता-पिता का पते का प्रमाण, माता-पिता का पहचान पत्र और 1000 रुपए निवेश की जरूरत पड़ेगी। ध्यान रहे कि इस योजना में लाभार्थी एक बार ही एक बेटी का खाता खुलवा सकता है। आप एक साल में कम से कम एक हजार रुपये और अधिकतम डेढ़ लाख रुपये जमा करवा सकते हैं।