इस लड़की ने सिर्फ 11000 में शरू किया डेयरी का काम, आज है एक करोड़ का टर्नओवर

किसान भाइयों आज हम आपको एक ऐसी लड़की के बारे में बताने वाले हैं जिसने सिर्फ 11 हज़ार रुपए में डेयरी फार्मिंग शुरू की और सिर्फ 2 साल में एक करोड़ रुपए से भी ज्यादा कारोबार वाली कंपनी खड़ी कर दी।आपको बता दें कि इस लड़की का नाम शिल्पी सिन्हा है और ये झारखंड के डाल्टनगंज की रहने वाली है।

दरअसल 2012 में जब शिल्पी पढाई के लिए बेंगलुरु गए तो वहां उन्हें अच्छी क्वालिटी का यानि गाय का शुद्ध दूध नहीं मिलता था। इसी से उन्हें बिजनेस करने का आईडिया आया और शिल्पी ने दूध का बिजनेस शुरू करने के बारे में सोच लिया। लेकिन महिला और कंपनी की इकलौती फाउंडर के तौर डेयरी क्षेत्र में काम करना आसान न था।

Advertisement

शुरुआत में शिल्पी को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ा जैसे शिल्पी को न कन्नड़ आती थी और न तमिल लेकिन फिर भी उसने अपने जज़्बे से इस बिजनेस को शुरू करने का सोचा। वहां के किसानों के पास जाकर इस लड़की ने उनकी गायों के चारे और उसकी देखभाल के बारे में समझाया। शुरुआत में उन्हें सप्लाई करने के लिए कर्मचारी मिलने में भी बहुत परेशानी आई।

लेकिन धीरे धीरे उनका बिजनेस सेट होने लगा और जैसे ही उनके 500 ग्राहक हो गए तो शिल्पी ने सिर्फ 11 हजार रुपए में 6 जनवरी 2018 को खुद की द मिल्क इंडिया कंपनी शुरू कर दी। हैरानी की बात ये है कि पहले दो साल में ही उनकी कंपनी का टर्नओवर एक करोड़ रुपए से ऊपर पहुंच गया। शिल्पी का कहना है कि उनकी कंपनी 62 रुपए प्रति लीटर में गाय का शुद्ध कच्चा दूध बेचती है।

उनकी कंपनी का दूध खासकर बच्चों के लिए बेचा जाता है। इसी लिए वो कोई भी ऑर्डर लेने से पहले मां से उनके बच्चे की उम्र के बारे में पूछते हैं। शिल्पी का कहना है कि उन्होंने एक बार किसानों को गायों को चारे की जगह रेस्टोंरेंट का कचरा खिलाते हुए देखा। उन्होंने सोचा कि ऐसा दूध स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं होता तभी उनके दिमाग में शुद्ध दूध बेचने का ख्याल आया।

तभी उन्होंने वहां के किसानों को पूरी प्रक्रिया समझाई कि यह दूध बच्चों को नुकसान पहुंचा सकता है। साथ ही उन्होंने कहा कि अगर वो उन्हे स्वस्थ दूध के देंगे तो उसके लिए किसानों को बेहतर कीमत मिलेगी। उसके बाद से ही किसानों ने गायों को मक्का खिलाना शुरू कर दिया और आज शिल्पी की कंपनी का टर्नओवर करोड़ों में है और वो द मिल्क इंडिया कंपनी की अकेली मालकिन हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *