ये हैं परमल, हाइब्रिड और बासमती धान की टॉप 5 वैरायटियां

गेहूं की कटाई का काम पूरा करने के बाद अब धान का सीज़न शुरू हो चुका है। इस बार सीज़न काफी लंबा चलने के आसार हैं इसी कारण सीज़न को पहले शुरू कर दिया गया है। ऐसे में किसान धान की किस्मों को लेकर निर्णय नहीं ले पाते की वो कौनसी किस्म की बिजाई करें। इसी लिए आज हम आपको धान की 5 टॉप परमल, बासमती और हाइब्रिड किस्मों के बारे में जानकारी देंगे।

टॉप 5 परमल वैरायटियां- सबसे पहले धान की टॉप 5 परमल वैरायटियों की बात करें तो इन्हे देसी बीज या वैरायटियां भी कहा जाता है। परमल में 5वें नंबर पे है PR121 वैरायटी। इस किस्म को तैयार होने में करीब 140 दिन का समय लगता है। इसका उत्पादन करीब 30 से 35 क्विंटल प्रति एकड़ तक रहता है। इसमें नंबर 4 पर है PR114 वैरायटी। ये तैयार होने में करीब 145 दिन लेती है और इसका उत्पादन भी PR121 जितना ही है। इस वैरायटी की खासियत ये है कि इसका दाना बहुत मजबूत होता है और चावल बहुत कम टूटता है।

Advertisement

परमल धान की नंबर 3 वैरायटी की बात करें तो इसे PR127 कहा जाता है। इसे तैयार होने में 150 दिन तक का समय लग सकता है और इसका उत्पादन करीब 28 से 32 क्विंटल तक रहता है। दूसरे नंबर की वैरायटी है PR126। ये वैरायटी सिर्फ 125 दिन में तैयार हो जाती है और इसका उत्पादन भी बढ़िया होता है। परमल धान की नंबर 1 वैरायटी है 201 । इसका उत्पादन भी 32 से 35 क्विंटल के बीच है और इसकी सबसे बड़ी खास बात ये है कि इसमें रोग बहुत कम आते हैं।

टॉप 5 हाइब्रिड वैरायटियां- हाइब्रिड धान में नंबर 5 पर आती है 6444 गोल्ड। इसका उत्पादन भी करीब 32 क्विंटल होता है और इसे तैयार होने में करीब 145 दिन लगते हैं। 4 नंबर वैरायटी की बात करें तो इसका नाम sava 134 है और इसकी खासियत ये है कि ये कम पानी में शानदार उत्पादन देती है। इसके बाद हाइब्रिड धान की नंबर 3 किस्म के बारे में बात करें तो इसका नाम है Pioneer 27P31 धान। ये किस्म कम समय और कम खुराक में उत्पादन काफी ज्यादा देती है।

नंबर 2 पर आती है JKRH 2082 वैरायटी। इसमें भी बीमारी बहुत कम आती है और करीब 135 से 140 दिन में ये तैयार हो जाती है और 32 क्विंटल तक उत्पादन देती है। हाइब्रिड में नंबर 1 वैरायटी है Arize 6129 Gold। इसकी खासियत ये है कि ये पानी बहुत कम लेती है और सिर्फ 120 दिन में तैयार हो जाती है और इसका उत्पादन भी 28 से 32 क्विंटल तक है।

टॉप 5 बासमती वैरायटियां- बासमती में नंबर 5 पर आती है 1728 वैरायटी। ये करीब 20 क्विटंल तक उत्पादन देती है और करीब 140 से 145 दिन में तैयार हो जाती है। नंबर 4 की बात करें तो इसका नाम है Pusa 1718 वैरायटी। इसे तैयार होने में 135 से 140 दिन लगते हैं और इससे करीब 18 से 20 क्विंटल तक उत्पादन मिलता है।

बासमती में नंबर 3 पर आती है बासमती 10 नाम की वैरायटी। इसका उत्पादन सिर्फ 15 क्विंटल के आसपास है लेकिन इसके चावल की क्वालिटी सबसे बढ़िया होती है। ये बहुत आसानी से बिक जाती है और इसका भाव भी बहुत अच्छा मिलता है। नंबर 2 पे आती है Pusa 1509, ये किस्म सिर्फ 115 दिन में तैयार हो जाती है और इसका उत्पादन करीब 18 से 20 क्विटंल है। बासमती के राजे यानि नंबर 1 वैरायटी है पूसा 1121 । इस वैरायटी को मंडी का सोना कहा जाता है। इसे तैयार होने में 140 से 145 दिन लगते हैं और इसका उत्पादन करीब 20 से 22 क्विंटल रहता है। इसके चावल और प्रालि की क्वालिटी भी शानदार होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *