सरकार की लाख कोशिश के बावजूद दिल्ली पहुंचे किसान,ऐसे की दिल्ली में एंट्री

किसान कृषि कानून का विरोध कर रहे है ।विरोध करने के लिए 25-26 के दिल्ली कूच के एलान किया था लेकिन सरकार को ये मंजूर नहीं था। इस लिए सरकार ने पहरे में दिल्ली के साथ लगते ज़िले की सीमाएं सील करदी थी।

पुलिस समेत खुफिया विभाग भी किसान नेताओं की लाेकेशन ट्रेस करता रहा। इसके बाद भी  के कई किसान नेता आखिरकार दिल्ली कूच करने में सफल रहे। वे लिंक रास्तों व बाइकों के सहारे दिल्ली पहुंचे। कई किसान नेताओं ने बुधवार सुबह 10 बजे ही सोशल मीडिया पर लाइव आकर खुद के दिल्ली पहुंचने की बात कही और दावा किया कि यमुनानगर से 400 किसान दिल्ली पहुंचे हैं।

Advertisement

इन किसानो के इलवा और भी बहुत सारे किसान दिल्ली पहुंच रहे है इनमे हरियाणा के साथ साथ पंजाब के किसान भी शामिल है पंजाब के किसानो को हरियाणा के बार्डर पर रोका जा रहा है लेकिन वो सभी मुश्किलों का सहमना करते हुए दिल्ली की तरफ चल रहे है ।

सुबह 10 बजे ही भाकियू से प्रदेश संगठन सचिव हरपाल सुढल, जिलाध्यक्ष संजू गुंदियाना व डायरेक्टर मंदीप सोशल मीडिया पर लाइव हुए और खुद के साथ यमुनानगर से 400 किसानों के दिल्ली पहुंचने का दावा किया।

कई जगह पुलिस मिली, लेकिन बाइक पर थे तो पुलिस पकड़ नहीं पाई। इसी तरह भारतीय किसान यूनियन मान गुट के लीगल एडवाइजर सुभाष गुर्जर का भी कहना है कि उनकी यूनियन से जुड़े सैकड़ों किसान वर्कर रैली में गए।पुलिस समेत खुफिया तंत्र किसानों के 25-26 के दिल्ली कूच के एलान पर तीन दिन से किसान नेताओं समेत संगठनों के सक्रिय किसानों की तलाश में थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *