गेहूं को जैविक तरिके से घुन से बचने के 8 तरिके

किसान भाईयों जैसा कि हम जानते हैं कि गेहूं स्टोरेज करना एक बहुत बड़ा चैलेंज रहता है। हर भारतीय के लिए क्योंकि उसमें घुन लग जाता है। जिसके कारण वो पूरी गेहूं को अंदर से खोखला बना देता है । ये एक बहुत बड़ी समस्य है तो इसका क्या सॉल्यूशन किया जा सकता है?आज हम आपको ऐसे जैविक 8 टिप्स देंगे जिनसे कि आप अपने गेहूं को घुन से बचा सकते हैं और वो भी बिना किसी भी केमिकल के इस्तमाल से ।

सबसे पहली बात हम आपको बताना चाहते है जो बड़ी गलती हमारे किसान करते हैं कि वो गेहूं को सुखाते नहीं तो गेहूं को आपको सबसे पहले अच्छी तरह से सुखा लेना है ताकि उसके अंदर किसी तरह कोई नमी ना आए ।

Advertisement

दूसरा टिप्स ये कि आप कभी भी गर्म गेहूं टंकी में ना डालें । गेहूं गर्म कैसे होती है? क्योँकि हमारे किसान उसको धूप में सुखाते हैं और गरम गरम गेहूं को को एक साथ स्टोर कर देते हैं तो उसमें भी एकदम ख़तरा बढ़ जाता घुन लगने का ।

हमने जहाँ भी गेहूं रखना है । वो कमरा भी हवादार होना चाहिए है। जहां पर आपका कमरा हवादार नहीं होता जहां पर धूप नहीं जाती है वहां पर नमी पैदा होती है वहां पर घुन लगता है। तो आप विशेषकर ध्यान रखें जो आपका कमरा अनाज रखने का वो हवादार हो वो हमें वहां पर किसी ना किसी प्रकार से रोशनी पहुँचने चाहिए।

तीसरे नंबर पर हम बात करेंगे इसका क्या क्या प्रबंधन आप कर सकते हैं। आपको कभी भी अपने गेहूं में जहर नहीं डालना चाहिए। क्योंकि जो आठ गोलियां रखी जाती हैं वो सल्फास की होती हैं। अगर पहचान सल्फास की गोली आपके आपके भोजन में आ जाये तो खतरनाक हो सकती है ।

घुन को रोकने के लिएआपको चुने का इस्तमाल करना चाहिए । चुना आपको पेंट वाली दुकान से आसानी से मिल जाएगा । आपको चुना सुखा के आपको एक कपड़े में बांध के आपको उसके काफी सारे पैकेट बनाने है और वो सभी पैकेट्स को आपको अपनी टंकी में डाल देना। ये चुना क्या काम करेगा? चुना आपका दो तरीके से काम करेगा एक तो आपके अनाज में जितने भी प्रकार की नमी होगी नमी को ये चूसता है।

नमी को ग्रहण करता है और दूसरा ये किसी प्रकार का घुन लगने नहीं देता है तो तीसरा इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं है। और अगर चुना आपके आटे में किसी तरह से मिल भी जिए तो वो कोई किसी प्रकार की कोई दिक्कत भी नहीं होगी तो आप कोशिश करें उसको ना पिसवाएं।

इसके इलावा आप नीम का इस्तेमाल कर सकते है । इसके लिए जो हमारे नीम की टहनियां इस्तमाल कर सकते है लेकिन याद रहे के नीम की टहनियां मरी सूखी नहीं होनी चाहिए, हरी होनी चाहिए फ्रेश होनी चाहिए और नीम के पत्तों का भी प्रयोग कर सकते है ।

गेहूं डालने से पहले आपको अपने टेंक को अच्छे से सुखा लीजिये धूप में दबा के एक सप्ताह के लिए सुखा लिये ताकि उसमें किसी प्रकार की नमी ना आए और बहुत सारे किसान मारे गलती करते टंकी को जमीन के नीचे रख देते है। इसको हमेशा हाइट पर रखें चाहे आप उसका स्टैण्ड बनवा लें और चाहे आप इसके लिए ईंट का भी प्रयोग कर सकते हैं इस से गेहूं निकालना बहुत आसान हो जाता है तो इन चीजों का बार प्रयोग करें ।

एक चीज और के आप ज्यादा के आपको एक बड़ा टैंक ना लेकर छोटी छोटी कई टंकिया ले ताकि आपका अनाज दूसरी जगह स्टोर रहे और आपको अगर एक टंकी में घुन लग गया तो दूसरी टंकी को बचा सकेंगे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *