कमाल की है ये पत्थर इकट्ठा करने वाली मशीन,यहाँ से खरीदें

पत्थर किसी भी खेत के लिए सबसे बड़ी समस्या होती है । पत्थरों की वजह से कई बार उपजाऊ जमीन पर भी फसल नहीं उगती है । इस लिए इन पथरों को खेत से हटाना बहुत ही जरूरी है । लेकिन अगर एक एक पत्थर चुन कर निकलना पड़े तो ये बहुत ही मेहनत वाला नामुनकिन सा काम लगता है।

लेकिन अब एक ऐसी मशीन आ गई है जो इस काम को बड़ी आसानी से कर सकती है और वो भी तेज़ी के साथ । इस मशीन को स्टोन पिकर बोलते है । इस मशीन को धीमान एग्रो इंडस्ट्रीज द्वारा त्यार किया गया है । इस मशीन की कीमत लगभग 1 लाख 95 हज़ार है । इस कंपनी के इलवा भी और बहुत सारी कंपनी है जो इस तरह की मशीन त्यार करती है ।

इस मशीन को खरीदने के लिए जा किसी और जानकारी के लिए आप इन नंबर पर संपर्क कर सकते है।Contact: 9803610000 , +91 8968650085.

ये कैसे काम करता है उसके लिए वीडियो देखें

आ गई ऐसी मशीन जो फसल काटने के साथ फसल का बंडल भी बना देगी

अब किसानों को मजदूर ढूंढ़ने में दिक्कत नहीं होगी। क्योंकि अब फसल के बण्डल बनाने के लिए लेबर की जरूरत नहीं रहेगी । फसल काटने के लिए पहले ही मशीन उपलब्ध थी लेकिन अब ऐसी भी मशीन आ गई है जो गेहूं के फसल का बंडल भी बना देगी।

BCS कंपनी की मशीन आ गई है जो गेहूं की फसल काटने के बाद उसका बंडल बांधने का काम भी करती है। इस मशीन के आ जाने से किसानो काफी परेशानियों का समाधान हो जायगा । क्योंकि पहले कंबाइन के काटने से जब वह गेहूं को बिलकुल जड़ के पास से काटती तो थी लेकिन उससे भूसा नहीं मिलता था और किसानो के सामने पशुओं के चारे की समस्या उत्पन्न हो जा रही थी।

अब इस मशीन के आ जाने से कटे हुए गेहूं से पर्याप्त मात्रा में भूसा भी बना सकते है । साथ ही मजदूर खोजने की परेशानी से भी मुक्ति मिल जाएगी। सिर्फ गेहूं ही नहीं यह मशीन गेहूँ , धान ,सोयाबीन ,धनिया, मूंग ,तिल्ली ,चना, मसूर, अलसी, सरसो और हर प्रकार के चारे की फसल काट सकते है ।

इस मशीन की कीमत बाजार में करीब ढाई लाख रुपये है। इसे ट्रैक्टर के बिना चलाया जा सकता है। मशीन में 10.2 हार्सपावर का इंजन बंधा हुआ है। मशीन एक घंटे में करीब एक एकड़ फसल काटकर उसके गट्ठर बांध देती है। जिसके लिए यह सिर्फ 1 लीटर डीज़ल का प्रयोग करती है । इसके 5 गेअर होते है जिसमे 4 आगे के और एक पीछे का होता है ।

अगर आप इसको खरीदना चाहते है तो BCS कंपनी के डीलर से संपर्क कर सकते है ।इसके डीलर भारत के सभी छोटे बड़े शहरों में है और ज्यादा जानकारी के लिए आप इनके हेड ऑफिस जो लुधिआना (पंजाब) में है संपर्क कर सकते है जिनके नंबर नीचे दिए है

Mr. S. K. Bansal + 91 98728 – 74743
Mr. Malkeet Singh Babrah (Head Production & Purchase)
+ 91 98728 – 74745

यह कैसे काम करते है देखने के लिए यह वीडियो देखें

अब जानवर नहीं पहुंचा सकेंगे नुकसान क्योंकि अब पल्स मशीन करेगी फसल की रखवाली

अब किसानों को फसल की रखवाली के लिए रातभर जागने की मजबूरी नहीं रहेगी। न ही फसल को जंगली जानवर नुकसान पहुंचा सकेंगे। फसल रक्षक पल्स मशीन फसलों की सुरक्षा करेगी। यह मशीन पंत विवि के किसान मेले में किसानों के लिए उपलब्ध हो सकेगी।

12 वोल्ट की बैटरी से संचालित इस मशीन के झटकों से हाथी, नील गाय, जंगली सुअर, हिरन, गीदड़, सेही, बंदर, सांड आदि जानवर फसल के करीब नहीं फटक सकेंगे।

खास बात यह है कि इस मशीन के करंट से जानवर या अंजाने में इंसान के छू लेने पर मौत होने जैसी कोई नौबत नहीं आएगी। एक बार फिर बता दे इस से किसी को कोई जानलेवा नुकसान नहीं होता ।

क्योंकि बैटरी का करंट होने के चलते इसमें अर्थिग होने की नौबत नहीं आती है। इस मशीन को घरों या फार्म हाउस के आसपास भी लगाया जा सकता है। जिससे कि बंदर नुकसान न पहुंचा सकें।

ऐसे करती है मशीन काम

छोटी सी इस मशीन को 12 वोल्ट की मशीन से करंट दिया जाता है। इसके बाद इस मशीन को खेतों के चारों ओर लगाए गए क्लच वायर से जोड़ दिया जाता है। तार की कीमत 160 रुपये प्रति किलो है, जबकि एक किलो में 75 मीटर लंबी तार आ जाती है। मशीन की कीमत नौ हजार रुपये है।

ये है मशीन की क्षमता

  • बैटरी एक बार चार्ज करने पर 24 घंटे चलती है
  • यह मशीन एक मिनट में 75 बार झटके देकर फसल की रखवाली करती है।
  • इसके करंट से कोई भी जानवर या आदमी नहीं मरेगा।

और जानकारी के लिए निचे दिए हुए नंबर और पते पर संपर्क करें

Ring Road Chamunda Dham colony,BIJNOR (UTTAR PRADESH)PIN-246701
EMAIL : nidhipulsmachine@gmail.com
Mobile No:9012384699, 8859595976

ये है हाथ से चलने वाली बिजाई मशीन, यहाँ से खरीदें

आप ने ट्रेक्टर के साथ खेत में बिजाई तो बहुत देखी होगी । लेकिन अभी भी बहुत से लोग है जो बैलों से खेती करते है । ऐसे किसान बीज बोने के लिए हाथ से छींटे दे देते है । जिस से फसल अच्छी नहीं होती । ऐसे किसानो के लिए अब बहुत सी कंपनी बिजाई की मशीन बना रही है जो हाथ से चलती है और जो बहुत अच्छी बिजाई करती है ।

आज  हम आपको जिस कंपनी की मशीन दिखने वाले है उस कंपनी का नाम है “ओम एग्रो वर्ल्ड ” । यह कंपनी ट्रेक्टर के साथ चलने वाली बिजाई मशीन तो बनाती ही है साथ में साथ से चलनी वाली बिजाई मशीन भी बनाती है ।

इस मशीन में एक बार में 4 किल्लो बीज डाला जा सकता है । यह मशीन 1 कतार में बिजाई करती है ।इस मशीन का वजन लगभग 12 किलो होता है । ये मशीन नरम और सख्त दोनों प्रकार की मिट्टी पर आसानी से चलती है इसके हेंडल की उचाई किसान अपने हिसाब से ऊपर निचे कर सकता है । इस मशीन की कीमत 5142 रुपये है ।

यह मशीन कैसे काम करती है इसके लिए यह वीडियो देखें

अगर आप इस मशीन की कीमत और दूसरी कोई जानकारी के बारे में जानना चाहते है तो निचे दिए हुए नंबर पर कांटेक्ट करें फ़ोन – +91 804296 4004 ,+91 98815 10419

आ गई तीन तरफ से पलटने वाली ट्राली

आमतौर पर देखा गया है कि ट्रॉली या तो समान्य होती है या फिर हाइड्रोलिक लिफ्ट वाली होती है जिस से ट्रॉली को पीछे की तरफ पलटा जा सकता है ।लेकिन अब ऐसी ट्राली (3 Way Tipping Trailer) आ चुकी है जो एक नहीं, दो नहीं बल्कि उससे तीन तरफ पलट सकते हैं ।

इस को हम दाएं और बाएं दोनों तरफ पलट सकते हैं । इसका फायदा यह होगा कि हम तीनों तरफ से सामान डाल और उतार सकते हैं ।

फील्ड किंग कंपनी द्वारा तैयार की गई यह ट्राली बहुत ही आधुनिक है इसमें जो मॅट्रिअल इस्तेमाल किया गया है वो बहुत ही बढ़िया क्वालिटी का लगा हुआ है ।

इसमें सिर्फ एक हाइड्रोलिक लिफ्ट से हम ट्राली को तीन तरफ से उठा सकते हैं । हमने ट्राली को जिस तरफ पलटना है उस हिसाब से ट्राली में थोड़ी सेटिंग्स करनी पड़ती है जो बहुत ही आसानी से हो जाती है ।

फीलड किंग कंपनी इसे तीन साइज में बनाती है ।सबसे का छोटी का जो तीन टन वज़न उठा सकती है उसका आकर है (8X6X2) फ़ीट , उससे बड़ी जो पांच टन वज़न उठा सकती है उसका आकर है (10X6X2) फ़ीट,जो सबसे बड़ी है वो 9 टन वज़न उठा सकती है उसका आकर है (12X6X2) फ़ीट ।

कीमत और बाकी जानकारी के लिए निचे दिए हुए पते और नंबर पर संपर्क कर सकते है

Plot No.235-236 & 238-240, Sec-3, HSIIDC, Karnal -132001
(Haryana), India
+91 184 2221571 / 72 / 73
+91 11 48042089

यह ट्राली कैसे काम करती है उसके लिए वीडियो भी देखें

यह है हाथ से चलने वाला “फिंगर वीडर” मिंटो में करता है नदीनो का खात्मा

खेती में नदीन फसल को बहुत नुक्सान पहुंचते है । अगर यह बेकाबू हो जाए तो फसल का उत्पादन आधे से कम रह जाता है ।इस लिए इन्हे शुरुआत में ही काबू करना जरूरी है । लेकिन नदीनो पर काबू करने के लिए नदीननाशक के इलावा यंत्र का भी उपयोग किया जा सकता है ।

लेकिन किसान के लिए सबसे दुर्भाग्य पूर्ण बात है के नदीननाशक यंत्र बहुत महंगे है जो ज्यादातर ट्रेक्टर जा इंजन से चलते है । जिसे खरीदना हर किसान के बस की बात नहीं खास तौर पर जिन किसानो की ज़मीन का आकार बहुत छोटा होता है वो ऐसे यंत्र खरीद नहीं सकते ।

इस लिए ऐसे किसानो को हाथ से नदीन नाशक निकालने पड़ते है ।लेकिन यह काम बहुत मेहनत भरा और वक़्त लेने वाला है ऐसे किसानो के लिए एक ऐसा ही यंत्र त्यार किया गया है जो हाथ से चलता है और जिसे फिंगर वीडर(Finger weeder) कहते है । इसका यह नाम इस लिए पड़ा क्योंकि यह बिलकुल हाथों की तरह ही नदीन साफ़ कर देता है वो भी बहुत तेज़ी से ।

लेकिन बड़े खेद के बात है यह आसान सा दिखने वाला यंत्र कोई भी भारत की कंपनी जा सरकार द्वारा त्यार नहीं किया गया । ऐसे छोटे यंत्र किसानो के लिए बहुत ही उपयोगी है। सरकार को किसानो के लिए ऐसे आसान यंत्र जरूर बनाने चाहिए ।

लेकिन इसको बनाना कोई मुश्किल नहीं है किसान भाई अपने स्तर पर इसको त्यार कर सकते है वो भी बहुत ही कम कीमत पर ।यह मशीन कैसे काम करती है उसके लिए वीडियो भी देखें ।

अब सिर्फ 7 दिन में घर पर त्यार करें पौष्टिक हाइड्रोपोनिक्स चारा

वैज्ञानिकों ने एेसा चारा उगाया है, जिसे खाकर पशु 15 से 20 फीसदी तक ज्यादा दूध देने लगेंगे। इस विधि को हाइड्रोपोनिक्स कहते हैं। इसे अपनाकर कम लागत में चारा तैयार किया जा सकता है।

पशुओं की अच्छी नस्ल होने के बाद भी उत्पादन कम रह जाता है। पशुओं के लिए उचित आहार का प्रबंधन कर उत्पादकता के साथ ही आर्थिक स्थिति में भी सुधार लाया जा सकता है। जिले में पानी की कमी के कारण हरा चारे की फसल नहीं ले पाते हैं।

हाइड्रोपोनिक्स विधि से कम पानी में हरा चारा तैयार किया जा सकता है। इस विधि में हम कम पानी में दुधारु पशुओं के लिए पौष्टिक हरा चारा तैयार करने की यह मशीन किसानों के प्रदर्शन के लिए स्थापित की है।

कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिक पशुपालन डॉ.रुपेश जैन ने बताया हाइड्रोपोनिक्स विधि से मक्का, ज्वार, बाजरा से हरे चारे को तैयार किया जा सकता है। इस विधि से तैयार चारे में पौष्टिक तत्वों की मात्रा परंपरागत चारे की तुलना में ज्यादा होती है। इसमें जगह भी कम लगती है।

ऐसे बनाए हाइड्रोपोनिक्स चारा

इस विधि से हरे चारे को तैयार करने के लिए सबसे पहले मक्का, ज्वार व बाजरा के दानों को 24 घंटे के लिए पानी में भिगोकर रखा जाता है। इसके बाद जूट के बोरे में ढककर अंकुरण के लिए रखा जाता है। अंकुरण निकलने के बाद इसे हाइड्रोपोनिक्स मशीन की ट्रे (2 बाय 1.5 फीट) में बराबर मात्रा में फैलाया जाता है। चौथे से दसवें दिन तक इसमें वृद्धि होती है।

इस दौरान ट्रे में 7 दिनों तक फौव्वारा के द्वारा दिन में 8 से 10 बार सिंचाई की जाती है। दसवें दिन एक ट्रे में लगभग 10 किलो तक हरा चारा तैयार हो जाता है। चारे की हाइट भी 6 से 8 इंच तक की हो जाती है।

इस विधि से तैयार चारे को 15 से 20 किलो तक दूध देने वाले पशुओं को खिलाया जा सकता है। पशुओं को खिलाने से दूध उत्पादन में 15 से 20 प्रतिशत तक की वृद्धि के साथ ही दूध में वसा की 10 से 15 प्रतिशत बढ़ोतरी होती है।

18-20 हजार होंगे खर्च

इस विधि को अपनाने के ज्यादा रुपए भी नहीं चुकाने होंगे। 50 ट्रे वाली मशीन के लिए 18 से 20 हजार रुपए का खर्च आएगा। जिसमें 5 ट्रेे प्रतिदिन 50 किलो हरा चारा निकलेगा। इससे 5 पशुओं को आहार दिया जा सकता है।

परंपरागत तरीके से चारा तैयार करने में 25 से 30 लीटर पानी की खपत होती है। वहीं इस विधि को अपनाकर 2 से 3 लीटर प्रतिदिन पानी में ही सिंचाई हो जाएगी।

हाइड्रोपोनिक्स चारा त्यार करने की जानकारी के लिए वीडियो भी देखें

बहुत कमाल की है यह गन्ना काटने वाली मशीन,जाने पूरी जानकारी

भारत में गन्ने की फसल मुख्या फसलों में से एक है इस लिए देश के बहुत सारे किसान गन्ने की खेती पर निर्भर है । लेकिन सब से मुश्किल काम गन्ने की कटाई का होता है। अगर इसको हाथ से करें तो बहुत वक़्त और मेहनत लगती है इस लिए अब एक ऐसी मशीन आ गई है जिस से गन्ने को काटने का काम बहुत आसानी से किया जा सकता है ।

यह मशीन एक घंटे में 900 से 1000 क्विंटल की कटाई कर देती है । यहाँ लेबर का खर्चा प्रति क्विंटल आता है वहीँ इस मशीन से इसका खर्चा सिर्फ 6 रुपये आता है । इस मशीन के साथ सिर्फ ट्रिंच विधि से ही गन्ने की कटाई की जा सकती है । आम तरिके से लगाए गए खेतों में इस मशीन को नहीं चलाया जा सकता ।

शक्तिमान कंपनी द्वारा गन्ना काटने वाली मशीन त्यार की गई है जो गन्ना काटने का काम बहुत तेज़ी से कर सकती है । इस मशीन का इंजन बहुत ही ताकतवर है इसमें 6 सिलिंडर वाला 173 हॉर्स पॉवर का इंजन लगा है ।यह मशीन पूरी तरह से आटोमेटिक है इसके केबिन में डिस्प्ले लगा हुआ है जिस पर हम मशीन की सारी गतिविधि देख सकते है ।

इस मशीन को चलना बहुत ही आसान है । केबिन में AC भी लगा होता है पूरी मशीन को सिर्फ एक लिवर (जॉय स्टिक) से चल्या जाता है ।अगर आप इस मशीन की कीमत जा फिर कोई और जानकारी चाहते है तो निचे दिए नंबर और पते पर संपर्क कर सकते है ।

  • TIRTH AGRO TECHNOLOGY PVT. LTD.
    Dist.: Rajkot.State: Gujarat- INDIA
    Pincode-360311.
  • +91 (2827) 661637 (30 Lines) / +91 (2827) 270 537
  • SMS +91 9925250169 /
  • mail– info@shaktimanagro.com

यह मशीन कैसे काम करती है उसके लिए वीडियो देखें

यह मशीन सिर्फ चारा ही नहीं काटती, आटा और दलिया भी त्यार करती है

हर किसान घर पर एक दो पशु जरूर पालता है और उसके लिए उसे एक अच्छी चारा मशीन की जरूरत होती है । और हर किसान के घर में एक चारा मशीन जरूर होती है ।

लेकिन क्या हो अगर चारा काटने वाली मशीन चारा काटने के साथ साथ आटा पीसने ,दलिया बनाने और फसलों के अवशेषों का चुरा बनाने का भी काम करे । ऐसी ही एक मशीन विधाता कंपनी द्वारा त्यार की गई है जो ये तीनो काम करने में सक्षम है ।

इस मशीन की दूसरी खास बात यह है की इस मशीन का आकार बहुत छोटा है जिस की सहयता से हम 20 गाय और 150 बकरी का चारा काट सकते है । इस मशीन के साथ मक्का ,जवार बाज़रा अदि का चारा त्यार कर सकते है ।

इसमें अलग अलग आकार की छाननी लगी होती है । जिस से हम दाने का आकार बड़ा जा छोटा कर सकते है । इसमें 2 से लेकर 10 की मोटर का इस्तमाल होता है ।और इसको डीज़ल इंजन से भी चला सकते है । इस मशीन की पूरी जानकारी के लिए निचे दिए हुए नंबर पर सम्पर्क कर सकते है । WhatsApp no + 91 562 2240765

यह चारा मशीन कैसे काम करता है उसके लिए वीडियो देखें

ये है साइकिल के चक्के से चलने वाला स्प्रे पंप,यहाँ से खरीदें

व्हील स्प्रे पंप एक ऐसा पंप है जिस से आप बिना किसी ईधन के खर्चे से बड़ी असनी से अपनी फसलों पर छिड़काव कर सकते है । यह पंप M. N. Agro Industries द्वारा त्यार किया गया है । इस पंप से आप गन्ना,सब्जिओं ,फूलों ,अनाज आदि फसलों पर बड़ी आसानी से छिड़काव कर सकते है । इस पंप से स्प्रे करने का सबसे बढ़िया फ़ायदा यह है की इसके साथ छिड़काव करने के लिए आप को टंकी को कंधे पर नहीं उठाना पड़ता ।

कैसे काम करता है पंप

इसमें एक साइकिल का चक्का लगा होता है और जब भी यह चक्का घूमता है तो इसकी मदद से हम छिड़काव कर सकते है । इस पंप में 4 नोज़ल लगे होते है जिस से बहुत बढ़िया छिड़काव हो जाता है साथ में आप इसकी लम्बाई और चौड़ाई फसल के हिसाब से कम या ज्यादा कर सकते है ।साथ ही इसका प्रेशर भी कम जा ज्यादा किया जा सकता है । इससे मशीन से आप सिर्फ आधे घंटे में एक एकड़ जमीन में सप्रे कर सकते है

इस पंप की कीमत और बाकी जानकारी के लिए निचे दिए हुए नंबर पर संपर्क करें

  • M. N. Agro Industries
  • At & PO- Velanja, Tal- Kamrej, Surat – 394150, Gujarat, India
  • फ़ोन-+(91) 9904858883 , +(91) 9904858885
  • www .mnagroindustries.com

यह कैसे काम करता है उसके लिए वीडियो भी देखें