पंजाब के किसान ने त्यार की नदीन निकालने वाली हैरो डिस्क,यहाँ से खरीदें

खेती में नदीन फसल को बहुत नुक्सान पहुंचते है । अगर यह बेकाबू हो जाए तो फसल का उत्पादन आधे से कम रह जाता है ।इस लिए इन्हे शुरुआत में ही काबू करना जरूरी है । लेकिन नदीनों पर काबू करने के लिए नदीननाशक के इलावा यंत्र का भी उपयोग किया जा सकता है ।

नदीननाशक का उपयोग इस लिए कम करना चाहिए क्योंकि इसका असर मुख्या फसल पर भी होता है और धीरे धीरे नदीनों की सहनशीलता बढ़ने लग जाती है और सारी नदीननाशक दवाएं बेअसर हो जाती है । इस लिए सबसे बेहतर यही होता है नदीनों का ख़ात्मा किसी यंत्र की मदद से किया जाए ।

डिस्क हैरो के बारे में हम सब जानते है । इसका इस्तेमाल ट्रेक्टर के साथ खेत में फसल अवशेषों को मिट्टी के अंदर गलाने के लिए किया जाता है । लेकिन अब एक ऐसे हैरो डिस्क आ गए है जिनका इस्तमाल हाथ से किया जाता है और इसके इस्तमाल से हम बड़ी आसानी से नदीनों को साफ़ कर सकते है ।

डिस्क हैरो को पंजाब के गुरमीत सिंह गांव बसिया, तहसील रायकोट , जिला लुधिआना द्वारा त्यार किया गया है । हैरो डिस्क के इलावा गुरमीत सिंह खेतीबाडी मे हाथ से इस्तेमाल होने वाले यंत्र बनाते है । हैरो डिस्क की कीमत 2800 रुपए है, गुरमीत सिंह का फ़ोन नंबर 82888 -72484 है , अगर कोई इसको खरीदना चाहता है तो इस नंबर पर सम्पर्क कर सकता है ।

आ गया त्रिशूल फार्म मास्टर जो कम पैसों में करे ट्रेक्टर के सारे काम

एक किसान के लिए सब से ज्यादा जरूरी एक ट्रेक्टर होता है । लेकिन महंगा होने के कारण हर किसान ट्रेक्टर खरीद नहीं सकता । क्योंकि छोटे से छोटा ट्रेक्टर भी कम से कम 4 लाख से शुरू होता है । लेकिन अब एक ऐसा ट्रेक्टर आ गया है जो ट्रेक्टर से 4 गुना कम कीमत पर भी ट्रेक्टर के सभी काम कर सकता है । जी हाँ यह है त्रिशूल कंपनी द्वारा त्यार किया हुआ त्रिशूल फार्म मास्टर ( Trishul Farm Master )

मोटर साइकिल जैसे लगने वाला यह ट्रेक्टर एक छोटे किसान के सारे काम कर सकता है । त्रिशूल फार्म मास्टर से आप जुताई ,बिजाई ,निराई गुड़ाई ,भार ढोना,कीटनाशक सप्रे आदि काम कर सकते है ।जो किसानों का काम आसान बना देती है।इसकी कीमत तकरीबन 1 लाख 45 हजार रु है।

त्रिशूल फार्म मास्टर मशीन की जानकारी

  • इंजन – 510 CC ,फोर स्ट्रोक
  • लंबाई – 7.5 फ़ीट . चौड़ाई – 3 फ़ीट. ऊंचाई – 4 फ़ीट.
  • वजन – 440 किलोग्राम
  • ग्राउंड से उचाई – 10 इंच
  • इंजन सिलेंडर – एक
  • प्रकार- एयर कूल्ड डीजल इंजन
  • Rated RPM – 3000
  • डीज़ल की खपत – 650 मी.ली एक घंटे में
  • गिअर – 4 आगे, 1 रिवर्स
  • डीज़ल टैंक कैपेसिटी – 14 लीटर

यह मशीन कैसे काम करती है उसके लिए वीडियो भी देखें

अगर आप इसे खरीदना चाहते है तो नीचे  दिए हुए नंबर और पते पर संपर्क कर सकते है

घोड़ावदार रोड , गोंडल
Dist :राजकोट (गुजरात)
फ़ोन:98252 33400

अब पावर वीडर करेगा खरपतवार की रोकथाम वो भी बहुत कम खर्चे में

एक किसान के लिए खरपतवार की रोकथाम सबसे बड़ी मुसीबत होते है ।अगर वक़्त पर खरपतवार पर नियंत्रण ना क्या जाए तो यह आपकी पूरी फसल ख़राब कर देते है आपकी फसल के उत्पादन में 20 से 30 प्रतिशत तक की कमी आ जाती है ।

लेकिन खरपतवार की रोकथाम इतना आसान काम नहीं है अगर हाथ से खरपतवार की रोकथाम की जाए तो बहुत समय और मेहनत लगती है लेकिन अगर नदीननाशक दवाइओं का प्रयोग किया जाए तो बहुत महंगा पड़ जाता है ।

ऐसे में किसानो के लिए एक बहुत ही उपयोगी मशीन का अविष्कार क्या है जिस से आप मिन्टों में खेत से खरपतवार का सफाया कर सकते है । इतना ही नहीं इस मशीन के साथ और भी अटैचमेंट्स आती है।

जिस में एक पावर वीडर (खरपतवार निकलने के लिए ) आता है जिसकी कीमत 4250 रु होती है । एक पैडी कटर आता है जिस से आप धान की कटाई कर सकते है ।जिसकी कीमत 2000 रु है साथ में एक ब्रश कटर आता है जिस से आप घास काट सकते है । जिसकी कीमत 2000 रु है ।

सो इस तरह से आप एक मशीन से अलग अलग अटैचमेंट्स लगा कर अलग अलग तीन काम कर सकते है । इस मशीन को आप किराये पर भी दे सकते है । और अच्छा लाभ कमा सकते है ।

मशीन की जानकारी

इसमें 4 स्ट्रोक 52CC इंजन लगा होता है जो पेट्रोल पर चलता है । एक लीटर पेट्रोल से आप इस मशीन को दो घंटे तक चला सकते है । जिस से आप बहुत सा काम ख़तम कर सकते है ।इस मशीन की कीमत सिर्फ 16000 रु है और इसकी अटैचमेंट्स की कीमत अलग है ।अगर आप इस मशीन को खरीदना चाहते है तो 9830182243 नंबर पर संपर्क कर सकते है ।इसके इलवा आप इस लिंक https://dir.indiamart.com/impcat/power-weeder.html पर क्लिक करके और भी डीलर से संपर्क कर सकते है

पावर वीडर कैसे काम करता है वीडियो देखें

hand weeder,power weeder contact:9423368301

Hand weeder available on wholesale price for bulk purchase contact:9423368301Dealers to be appointed.

Posted by Sarweshwara Tractors on Friday, May 12, 2017

सिर्फ 2200 रू की लगत मैं साइकिल को ही बना डाला स्प्रे मशीन, 45 मिनट में ही 1 एकड़ में स्प्रे

जरूरत अविष्कार की जननी है, ये बात सभी मानते हैं। गुजरात में भी एक किसान की जरूरत ने एक नई सस्ती, टिकाऊ और तेजी से काम करने वाली मशीन को जन्म दिया है, जिसका फायदा अब किसानों को खूब हो रहा है।

40 साल के मनसुखभाई जगानी छोटे किसान हैं और गुजरात के अमरेली जिले के रहने वाले हैं। मनसुखभाई प्राथमिक स्तर से आगे नहीं पढ़े हैं। जबरदस्त आर्थिक तंगी के दिनों में मनसुखभाई ने मजदूर के तौर पर भी काम किया है।

22 साल पहले उन्होंने गांव वापस लौटकर मरम्मत और निर्माण का छोटा सा काम शुरु किया और खेती के काम आने वाले औजार बनाने लगे।इस काम में हुनर हासिल करने के बाद अब मनसुखभाई ने फसलों पर स्प्रे करने वाली एक आसान और बेहद सस्ती मशीन बना डाली।इससे ना केवल काम बहुत तेजी से होता है बल्कि लागत भी कई गुना बच जाती है।

मनसुखभाई ने साईकिल में भई स्प्रे मशीन को कुछ इस तरह जोड़ दिया जिससे स्प्रे करने वाले व्यक्ति के शरीर कोई थकावट नहीं होती। साथ ही स्प्रे के दौरान निकलने वाले रासायनिक पदार्थ से शरीर को भी नुकसान का खतरा काफी कम हो जाता है।

मनसुखभाई ने साइकिल के सेंट्रल स्प्रोकेट को पिछले पहिये और पिछले पहिये को सेंट्रल स्प्रोकेट से बदल दिया।उन्होंने पैडल्स को सेंट्रल स्प्रोकेट से हटा दिया। पैडल्स की जगह उन्होंने दोनों तरफ से पिस्टन रॉड लगा दिए। दोनों तरफ से ये पिस्टन रॉड पीतल के कीलेंडर से जुड़े हुए हैं।

30 लीटर का PVC स्टोरेज का एक टैंक उन्होंने साइकिल के कैरियर पर रख दिया, जो कि कीलेंडर पंप से जुड़ा हुआ था। बैलेंस बनाने के लिए उन्होंने साइकिल के कैरियर के दोनों तरफ 4 फुट लंबा छिड़काव करने वाला एक नोज़ल भी लगा दिया।

8 दिनों की मेहनत के बाद मनसुखभाई जबरदस्त ढंग से काम करने वाली स्प्रे मशीन बनाने में सफल हो गए। साईकिल स्प्रे मशीन से 1 एकड़ खेत में छिड़काव करने में 45 मिनट का वक्त लगता है। इसकी लागत 2200 रूपए हैं। इसमें साईकिल की कीमत नहीं जोड़ी गई है।

वीडियो भी देखें

आ गया कम कीमत वाला मिनी ट्रेक्टर जो करे बड़े ट्रेक्टर वाले सारे काम

एक किसान के लिए सब से ज्यादा जरूरी एक ट्रेक्टर होता है । लेकिन महंगा होने के कारण हर किसान ट्रेक्टर खरीद नहीं सकता । क्योंकि छोटे से छोटा ट्रेक्टर कम से कम 4 लाख से शुरू होता है।

लेकिन अब एक ऐसा ट्रेक्टर आ गया है जो ट्रेक्टर से 4 गुना कम कीमत पर भी ट्रेक्टर के सभी काम कर सकता है । जी हाँ यह है त्रिशूल कंपनी द्वारा त्यार किया हुआ त्रिशूल मिनी ट्रेक्टर (TRISHOOL MINI TRACTOR)

10 HP से शुरू होने वाले यह मिनी ट्रेक्टर एक छोटे किसान के सारे काम कर सकता है । त्रिशूल मिनी ट्रेक्टर से आप जुताई ,बिजाई ,निराई गुड़ाई ,भार ढोना,कीटनाशक सप्रे आदि काम कर सकते है ।जो किसानों का काम आसान बना देती है। इसके शुरुआती 10 HP वाले ट्रेक्टर की कीमत तकरीबन 1 लाख 75 हजार रु है।

इसके बाकी मॉडल्स की कीमत इस तरह है।

  • 12 HP – 250000/-
  • 16 HP – 265000/-
  • 22 HP – 325000/-

त्रिशूल मिनी ट्रेक्टर 10 HP की जानकारी इस तरह है

  • इंजन – 510 CC ,फोर स्ट्रोक
  • लंबाई – 1950 MM . चौड़ाई – 860 MM. ऊंचाई – 1250 MM.
  • वजन – 550 किलोग्राम
  • इंजन सिलेंडर – एक
  • प्रकार- एयर कूल्ड डीजल इंजन
  • Rated RPM – 3000
  • डीज़ल की खपत – 750 मी.ली एक घंटे में
  • गिअर – 3 आगे, 1 रिवर्स

बाकी मॉडल की जानकारी इस फोटो में देखें

यह मिनी ट्रेक्टर कैसे काम करती है उसके लिए वीडियो भी देखें

अगर आप इसे खरीदना चाहते है तो नीचे  दिए हुए नंबर और पते पर संपर्क कर सकते है

  • घोड़ावदार रोड , गोंडल
  • Dist :राजकोट (गुजरात)
  • फ़ोन:9825546964 and 9978443843

ये है साइकिल के चक्के से चलने वाला स्प्रे पंप,यहाँ से खरीदें

व्हील स्प्रे पंप एक ऐसा पंप है जिस से आप बिना किसी ईधन के खर्चे से बड़ी असनी से अपनी फसलों पर छिड़काव कर सकते है । यह पंप M. N. Agro Industries द्वारा त्यार किया गया है । इस पंप से आप गन्ना,सब्जिओं ,फूलों ,अनाज आदि फसलों पर बड़ी आसानी से छिड़काव कर सकते है । इस पंप से स्प्रे करने का सबसे बढ़िया फ़ायदा यह है की इसके साथ छिड़काव करने के लिए आप को टंकी को कंधे पर नहीं उठाना पड़ता ।

कैसे काम करता है पंप

इसमें एक साइकिल का चक्का लगा होता है और जब भी यह चक्का घूमता है तो इसकी मदद से हम छिड़काव कर सकते है । इस पंप में 4 नोज़ल लगे होते है जिस से बहुत बढ़िया छिड़काव हो जाता है साथ में आप इसकी लम्बाई और चौड़ाई फसल के हिसाब से कम या ज्यादा कर सकते है ।साथ ही इसका प्रेशर भी कम जा ज्यादा किया जा सकता है । इससे मशीन से आप सिर्फ आधे घंटे में एक एकड़ जमीन में सप्रे कर सकते है

इस पंप की कीमत और बाकी जानकारी के लिए निचे दिए हुए नंबर पर संपर्क करें

  • M. N. Agro Industries
  • At & PO- Velanja, Tal- Kamrej, Surat – 394150, Gujarat, India
  • फ़ोन-+(91) 9904858883 , +(91) 9904858885
  • www .mnagroindustries.com

यह कैसे काम करता है उसके लिए वीडियो भी देखें

किसान बेटे ने की खुदकुशी, अब पोते को पढाने के लिए धो रही है गंदी बोतलें

एक 62 साल की बूढ़ी महिला जिसका नाम बलबीर कौर है, उसके हंसते-खेलते परिवार को बेटे के एक्सीडेंट ने तोड़कर रख दिया। पांच एकड़ जमीन, एक ट्रैक्टर आैर कार की मालकिन के पास आज कुछ भी नहीं है। बेटे के इलाज के लिए कर्ज लिया था, फिर भी वो ठीक नहीं हुआ।

ठीक नहीं होने से तंग आकर 2016 में घर में ही फंदा लगाकर उसने मौत को गले लगा लिया। इतना सब होते हुए भी उसने हौसला रखा आैर सोचा कि कर्ज देने वाले तंग न करें इसलिए जमीन, ट्रैक्टर, कार सब बेच दिया आैर लोगों का कर्ज चुका दिया।

  • घर की खराब आर्थिक हालत को देखते हुए बहू भी 3 जुलाई 2016 को 10 साल के बेटे को छोड़कर चली गई। अब बुजुर्ग बलबीर गंदी बोतलें धोकर जो पैसे मिलते हैं उससे पोते को प्राइवेट स्कूल में पढ़ा रही हैं।
  • उसे उम्मीद है कि पोता पढ़-लिखकर फिर से अच्छे दिन लाएगा, भले ही वो दिन देखने के लिए वह जिंदा रहे या नहीं। पोता भी उम्मीदों पर खरा उतर रहा है। हाल ही में पांचवीं क्लास उसने 97% नंबरों के साथ पास की है आैर दादी के साथ खाली समय में बोतलें भी साफ करवाता है।

गेहूं, धान से भरे रहने वाले बरामदे में आज गंदी बोतलों के क्रेट

  • बुजुर्ग बलबीर कौर ने पुराने दिन याद करते हुए बताया कि उसका हंसता-खेलता परिवार था। बेटा केसर सिंह पिता के साथ अपनी पांच एकड़ जमीन पर आम किसानों तरह खेती करता और खुशहाल जिंदगी व्यतीत कर रहा था। खेती के लिए ट्रैक्टर समेत हर सामान अपना था। घर में कार भी थी। 2011 में परिवार पर मुसीबतों का कहर टूट पड़ा।
  • बेटे केसर का एक्सीडेंट हुआ और कई साल चले इलाज में आमदनी बंद हो गई। उल्टा सिर पर काफी कर्ज चढ़ गया। बेबस होकर बेटे सुसाइड कर लिया। बहू 10 साल का पोता हमारी झोली में डालकर चली गई। कभी घर के इस बरामदे में जहां गेहूं, धान के बोरे और ट्रैक्टर होता था, वहां गंदी बोतलों के ढेर लगे हैं। इतना कहते ही बलबीर कौर की आंखें आंसुओं से भर जाती हैं।

कमाई का नहीं है कोई साधन

  • वे बताती हैं कि कमाई का कोई साधन नहीं है। गंदी बोतलें साफ करने बदले प्रति क्रेट पांच रुपए मिलते हैं। अब काम भी नहीं होता। बहुत कोशिश करने पर कभी 60 तो कभी पोते के हाथ बंटाने से 75 रुपए दिहाड़ी बन जाती है। इसी से परिवार का गुजारा चला रही हूं।
  • मन में दुख है कि किसी सरकार ने परिवार की सुध नहीं ली और न ही किसी योजना के तहत मदद की। आैर कुछ नहीं तो पोते की आगे की पढ़ाई का ही कुछ इंतजाम हो जाए तो सुकून मिल सके। बलबीर कौर के पति अजैब सिंह भी बीमार रहते हैं।

यह है हाथ से चलने वाला “फिंगर वीडर” मिंटो में करता है नदीनो का खात्मा

खेती में नदीन फसल को बहुत नुक्सान पहुंचते है । अगर यह बेकाबू हो जाए तो फसल का उत्पादन आधे से कम रह जाता है ।इस लिए इन्हे शुरुआत में ही काबू करना जरूरी है । लेकिन नदीनो पर काबू करने के लिए नदीननाशक के इलावा यंत्र का भी उपयोग किया जा सकता है ।

लेकिन किसान के लिए सबसे दुर्भाग्य पूर्ण बात है के नदीननाशक यंत्र बहुत महंगे है जो ज्यादातर ट्रेक्टर जा इंजन से चलते है । जिसे खरीदना हर किसान के बस की बात नहीं खास तौर पर जिन किसानो की ज़मीन का आकार बहुत छोटा होता है वो ऐसे यंत्र खरीद नहीं सकते ।

इस लिए ऐसे किसानो को हाथ से नदीन नाशक निकालने पड़ते है ।लेकिन यह काम बहुत मेहनत भरा और वक़्त लेने वाला है ऐसे किसानो के लिए एक ऐसा ही यंत्र त्यार किया गया है जो हाथ से चलता है और जिसे फिंगर वीडर(Finger weeder) कहते है । इसका यह नाम इस लिए पड़ा क्योंकि यह बिलकुल हाथों की तरह ही नदीन साफ़ कर देता है वो भी बहुत तेज़ी से ।

लेकिन बड़े खेद के बात है यह आसान सा दिखने वाला यंत्र कोई भी भारत की कंपनी जा सरकार द्वारा त्यार नहीं किया गया । ऐसे छोटे यंत्र किसानो के लिए बहुत ही उपयोगी है। सरकार को किसानो के लिए ऐसे आसान यंत्र जरूर बनाने चाहिए ।

लेकिन इसको बनाना कोई मुश्किल नहीं है किसान भाई अपने स्तर पर इसको त्यार कर सकते है वो भी बहुत ही कम कीमत पर ।यह मशीन कैसे काम करती है उसके लिए वीडियो भी देखें ।

यह मशीन सिर्फ चारा ही नहीं काटती,आटा और दलिया भी त्यार करती है

हर किसान घर पर एक दो पशु जरूर पालता है और उसके लिए उसे एक अच्छी चारा मशीन की जरूरत होती है । और हर किसान के घर में एक चारा मशीन जरूर होती है ।

लेकिन क्या हो अगर चारा काटने वाली मशीन चारा काटने के साथ साथ आटा पीसने ,दलिया बनाने और फसलों के अवशेषों का चुरा बनाने का भी काम करे । ऐसी ही एक मशीन विधाता कंपनी द्वारा त्यार की गई है जो ये तीनो काम करने में सक्षम है ।

इस मशीन की दूसरी खास बात यह है की इस मशीन का आकार बहुत छोटा है जिस की सहयता से हम 20 गाय और 150 बकरी का चारा काट सकते है । इस मशीन के साथ मक्का ,जवार बाज़रा अदि का चारा त्यार कर सकते है ।

इसमें अलग अलग आकार की छाननी लगी होती है । जिस से हम दाने का आकार बड़ा जा छोटा कर सकते है । इसमें 2 से लेकर 10 की मोटर का इस्तमाल होता है ।और इसको डीज़ल इंजन से भी चला सकते है । इस मशीन की पूरी जानकारी के लिए निचे दिए हुए नंबर पर सम्पर्क कर सकते है । WhatsApp no + 91 562 2240765

यह चारा मशीन कैसे काम करता है उसके लिए वीडियो देखें

सिर्फ ढेड़ लीटर डीज़ल में एक एकड़ धान काटने वाली मिनी कम्बाइन

वैसे तो धान की फसल तैयार करना काफी मुश्किल भरा होता है, किसान जी-जान लगा देता है फसल को तैयार करने में, लेकिन इसके बाद भी धान की मड़ाई करना भी काफी मुश्किल भरा काम होता है।

हलांकि जो किसान धान की खेती ज्यादा क्षेत्र में करते हैं वो तो कम्बाइन से अपनी फसल कटवा लेते हैं, लेकिन जो किसान कम क्षेत्र में धान की खेती करते हैं उन किसानों को फसल की मड़ाई करने में काफी मेहनत करनी पड़ीती है, उन्हीं किसानों के लिए ग्रीव्स कंपनी मिनी कम्बाइन ले कर आए है जो छोटे किसानो के बेहद फायदेमंद साबित होगी।

कम क्षेत्र में धान की खेती करने वाले किसानो के लिए यह कम्बाइन बहुत ही उपयोगी है । इस मशीन के इस्तेमाल करने के बहुत से फायदे है जैसे यह बहुत कम जगह लेता है ।

छोटा होने के कारण हर जगह पर पहुँच जाता है । और इस मिनी कम्बाइन से एक एकड़ काटने में बहुत ही कम खर्च आता है यह एक एकड़ काटने में सिर्फ 1.5 से 2 लीटर के लगभग डीज़ल का प्रयोग करती है ।

इसमें 17.2 Hp डीजल इंजन लगा हुआ है इस मॉडल का नाम Model – GS4L-0.5 है । इस मॉडल की कीमत 3 लाख के करीब । यह कम्बाइन दो से ढाई घंटे में एक एकड़ फसल काट देती है।

इस कम्बाइन का एक फ़ायदा यह भी है के यह फसल को सीधे ही बोरे में डाल देती है । सिर्फ धान ही नहीं इस से आप बाकी की अनाज फसलें जैसे गेहूं ,सरसों अदि भी काट सकते है

यह कंबाइन कैसे काम करता है उसके लिए वीडियो देखें

अगर आप इस कंबाइन को खरीदना चाहते है तो नीचे दिए हुए पते और नंबर पर संपर्क करें

Phone: +91-22-33551700
REGISTERED OFFICE:
Greaves Cotton Limited
3rd Floor Motilal Oswal Tower
Junction of Gokhale & Sayani Road
Prabhadevi Mumbai – 400025