अब हर तरह की फसल के अवशेषों को मिट्टी में मिलाने के लिए करें शक्तिमान मल्चर का प्रयोग

शक्तिमान रोटरी मल्चर, बागों और बगीचों, धान, पलवार घास और झाड़ियों को काटने के लिए एक सरल और विश्वसनीय उपकरण है। यह उपकरण मिट्टी की उर्वरता बनाए रखने में भी मदद करता है।

शक्तिमान रोटरी मल्चर एक तरह का कतरनी यंत्र है, यह न्यूनतम 50 हार्स पावर के डबल क्लचर वाले ट्रैक्टर के पीछे लगा कर चलाया जाता है । यह फसल के अवशेषों को बारीकी से काटता है ।

शक्तिमान रोटरी मल्चर को पुआल व डंठलों के बारीक टुकड़े काटने, हरा चारा काटने, केले की फसल को काटने, सब्जियों की फसल के अवशषों को छोटे टुकड़ों में काटने के अलावा ऊंची घास व छोटी झाडि़यों को काटने में भी इस्तेमाल किया जाता है ।

शक्तिमान रोटरी मल्चर में काफी मात्रा में अवशेषों की बारीक कटाई के लिए बड़ा कार्यशील चैंबर होता है । यह मशीन कतरने के लिए बेहद प्रभावशाली व गुणवत्ता वाली मानी जाती है ।

किसान गन्ने के खेत में कटाई के बाद बचे हुए कुड़े धान के बचे हुए अवशेष को खेत में ही जला देते है। जिससे पर्यावरण दूषित होता है मित्र कीट मर जाते है। इसलिए शक्तिमान रोटरी मल्चर के प्रयोग से गन्ने का बचा हुआ कुड़ा सूखी पत्ती धान के बचे हुए अवशेषों को भरभूरा कर जमीन पर सतह बना देता है।

कीमत और दूसरी जानकारी के लिए आप इन नंबर Phone: +91 (2827) 661637, +91 (2827) 270 537 पर सम्पर्क कर सकते है ।

मल्चर कैसे काम करता है इसके लिए वीडियो भी देखें

साइथ यंत्र से एक मजदूर काट सकता है तीन मजदूरों जितनी फसल

फसल की कटाई के दौरान मजदूरों की भारी कमी और हंसिया की मजबूरी से मुक्ति का औजार ‘साइथ-आमतौर पर खेती के लिए मजदूरों की मांग बुआई के समय और फसल की कटाई के दिनों में ज्यादा होती है।

सीमांत किसानों या छोटे रकबे या जोत वाले किसानों को फसलों की कटाई के दौरान ज्यादा समस्या आती है। एक तो मजदूरों की कमी की समस्या और दूसरी आज भी वो फसलों की कटाई के लिए परंपरागत तरीके ही इस्तेमाल करने को मजबूर हैं।

परंपरागत रूप से फसल की कटाई करने में एक तो वक्त बहुत लगता है दूसरा बेहद मेहनत करनी होती है। आस पड़ोस के मजदूरों के नखरे सो अलग। ऐसे में यूरोपीय देशों में परंपरागत तौर पर फसल की कटाई के लिए उपयोग किए जाने वाले आला जिसे अंग्रेजी में साइथ कहते हैं, भारतीय कृषकों के लिए भी बेहद उपयोगी हो सकता है। भारत में हाल के दिनों में साइथ के प्रचलन को हाथों हाथ लिया भी जा रहा है।

अंग्रेजी के एल अक्षर के आकार का ये साइथ न केवल कटाई जैसे महत्वपूर्ण कृषि कार्य में खेतिहर को मजदूरों की कमी का एक बेहतरीन विकल्प उपलब्ध कराता है बल्कि परंपरागत कटाई उपकरणों की तुलना में बेहद कम समय में खेत के खेत में लगी फसल को काट कर जमीन पर करीने से बिछा भी देता है। इसमें सिर्फ एक मजदूर तीन मजदूरों जितनी फसल काट सकता है ।

बनावट : तकरीबन 170 सेंटीमीटर लंबे लकड़ी के एक डंडे (हाल फिलहाल लकड़ी की जगह धातु या प्लास्टिक का भी इस्तेमाल किया जा रहा है) को साइथ कहते हैं जिसकी आकृति या तो सीधी हो सकती है या अंग्रेजी के एस आकार की होती है जिसके ठीक नीचे एल आकार में एक दरांती लगी होती है जिससे फसल या घास की कटाई को अंजाम दिया जाता है।

साइथ में पकड़ने के लिए एक या दो हैंडल लगे होते हैं। पहला हैंडल सबसे उपर और दूसरा डंडे के बीच में होता है। डंडे के सबसे नीचले हिस्से पर लंबबत रुप में तकरीबन साठ से नब्बे सेंटीमिटर लंबी सी ब्लेड या दरांती लगी होती है जो फसल के काटने के काम आती है।

साइथ में ये ब्लेड काम करने के दौरान हमेशा बायीं तरफ होती है। फसल या घास की कटाई के लिए इसके इस्तेमाल के पहले इससे कटाई करने का प्रशिक्षण लेना जरूरी होता है। अनाड़ी व्यक्ति इसकी मदद से कटाई नहीं कर सकता।

खास बात ये है कि थोड़े से ध्यान से देखने पर एक आम व्यक्ति भी साइथ को अपने घर में ही बना सकता है और थोड़े से प्रैक्टीस के बाद बड़ी आसानी से खेत के खेत कटाई भी कर सकता है। साइथ की मदद से कैसे फसल की कटाई की जा सकती है

साइथ से प्रभावित होकर भारत में भी हैदराबाद स्थित सीईसी में विभिन्न प्रकार के साइथ का निर्माण किया जा रहा है जिसकी कीमत तकरीबन 1200 रुपये है।

और जानकारी के लिए वीडियो भी देखें

ये है पेडल से चलने वाला पंप एक घंटे में निकलता है 5000 लीटर पानी

खेती के लिए जो सबसे ज्यादा जरूरी चीज है वो है पानी ।पानी के बिना खेती की कल्पना करना भी मुश्किल है । लेकिन सिंचाई के लिए जरूरी ईंधन और बिजली हर किसान नहीं खरीद सकता । ऐसे किसानो के लिए बिना खर्चा किये अब आ गया है पेडल पंप जा ट्रेडल पंप (treadle pump)। इस पंप की खसयत यह है के पानी निकलने के लिए आपको बस खड़े होकर पेडल दबाने होते है । जिस से पानी अपने आप निकलना शुरू हो जाता है ।

इस पंप को एक जगह से दूसरी जगह लेकर जाना बहुत आसान है क्योंकि इसका वजन सिर्फ 12 किल्लो है ।एक आदमी जिसका वजन 60 किल्लो है वो इस पंप से 15 फ़ीट गहरे पानी को उठा कर 45 फ़ीट तक सिंचाई कर सकता है । यह मशीन एक घंटे में 2000- 5000 लीटर पानी निकल सकती है ।

सिर्फ खेत में ही नहीं इसे आप अपने घर की छत पर पानी वाली टंकी में पानी पहुंचने के लिए भी इसका इस्तमाल कर सकते है । इसके इलावा आप इसके इस्तमाल से बगीची को भी पानी दे सकते है । इसके साथ हम फवारा सिंचाई भी कर सकते है । इसकी कीमत भी सिर्फ 4050 रुपये से शुरू हो जाती है ।

कहाँ से खरीदें यह ट्रेडल पंप (treadle pump)

यह ट्रेडल पंप (treadle pump) कई कम्पनियों द्वारा त्यार किया जाता है । आप इस लिंक https://dir.indiamart.com/impcat/treadle-pump.html के ऊपर क्लिक करके सभी कम्पनियों के नाम जान सकते है और किसी भी कंपनी से इसे खरीद सकते है । इसके इलावा हम आपको एक कंपनी का नाम और एड्रेस बताएँगे जिस से आप इस मशीन को खरीद सकते है उस कंपनी का नाम है “एकफ्लो ट्रेडले पंप (Ecoflo Treadle Pump)” यह नासिक महाराष्ट्र की कंपनी है । इसको खरीदने के लिए आप इस नंबर 08048402340 पर संपर्क कर सकते है ।

यह पंप कैसे काम करता है उसके लिए वीडियो देखें

यह मशीन जो जमीन समतल करने के साथ फालतू मिट्टी भरे सीधा ट्रॉली में

अच्छी खेती के लिए जरूरत होती है उबड़-खाबड़ रहित यानी समतल जमीन की। कुदरती तौर पर समतल जमीन का मिलना लगभग असंभव है, ऐसे में इस तरह की जमीन हासिल करना कृषकों के लिए बेहद कड़ी चुनौती होती है।

इसी चुनौती को आसान बनाने में अहम योगदान दिया है किसान रेशम सिंह और कुलदीप सिंह ने जिन्होंने लैंड लेवलर कम लोडर मशीन यानी जमीन को समतल करने सह लोड करनेवाली मशीन बनाई जो ट्रैक्टर संचालित मशीन है।

लैंड लेवलर कम लोडर मशीन

  • स्क्रैपर ब्लेड की मदद से मिट्टी की कटाई, कनवेयर की मदद से मिट्टी या बालू को जमा कर ट्रैक्टर में रखना
  • कनवेयर की मदद से मिट्टी या बालू को जमा कर ट्रैक्टर में जमा करना
  • यह एक वक्त में 3 ईंच तक गहरी खुदाई कर सकता है
  • यह एक मिनट में 11गुना 6 गुना 2.25 फीट आकार के ट्रेलर को भर सकता है(मिट्टी कम कड़ा होने पर एक मिनट से कम वक्त लगता है)-(मिट्टी कम कड़ा होने पर एक मिनट से कम वक्त लगता है)
  • 50 एचपी या अधिक क्षमता वाले ट्रैक्टर में काम कर सकता ह – इसे भी किसी ट्रैक्टर से जोड़ा जा सकता है
  • एक घंटा में पांच से सात लीटर डीजल की खपत
  • मशीन से 4 फीट की चौड़ाई में खुदाई, साढ़े आठ फीट की ऊंचाई से मिट्टी गिराना
  • नोट- यह दावा किया जाता है कि दोनों मशीन से औसतन एक दिन में एक बीघा (5 एकड़) जमीन को समतल किया जा सकता है।

मशीन की तकनीक-

  • संवाहक पट्टिका (कनवेयर) में एक जोड़ा चेन होता है, यह एक वक्त में चार ईंच गहरी कटाई कर सकता है और 11 गुना, 6 गुना और 2.25 फीट के आकार के ट्रेलर को महज दो मिनट में भर सकता है।
  • इस मशीन का इस्तेमाल करने के दौरान ट्रैक्टर प्रति घंटा पांच से छह लीटर डीजल की खपत करता है।
  • मशीन में 4 ईंच तक की गहराई तक काटने की क्षमता और साढ़े आठ फीट की ऊंचाई से बालू गिराने की क्षमता है।

मशीन से जुड़ी मुख्य बातें-

  • कुछ क्षेत्रों में इस मशीन से बड़ी संभावनाएं हैं जैसे कि कनाल के पानी के लिए मिट्टी की कटाई, साथ ही सड़क और आवास निर्माण।
  • एक अनुमान के मुताबिक यह मशीन एक दिन में एक बीघा (5 से 8 एकड़) जमीन से 150 ट्रेलर बालू हटा कर समतल कर सकता है।
  • इसे किराये पर भी लगाया जा सकता है, इसके लिए दो वर्ग फीट गहरी खुदाई प्रति दो रुपये के हिसाब से दर तय की जा सकती है। जो बालू काट कर निकाला गया है उसे प्रति ट्रेलर 250 से 300 रुपये की दर से बेचा जा सकता है।
  • मशीन की कीमत- 1,50,000 रुपये (एक्स-फैक्ट्री, पैकेजिंग)। कीमत में परिवहन खर्च और कर इत्यादि शामिल नहीं।

यह मशीन कैसे काम करती है इसकी वीडियो देखें

और जानकारी के लिए इन से संपर्क करें

Resham Singh Virdi
Address -Jaideep Agriculture Works, Sangriya Road,
Bus Stand, Satipura, Hanumangarh,Rajsthan
Mobile: 09414535570

Kuldeep Singh
S/o Navrang Singh,Kanluall Chehllan,
Tehsil:Budhlada,Dis:Mansa,Punjab
Mobile: 9417629090, 9501286161