आप भी करें चंदन की खेती, 15 साल में होगी 15 करोड़ की कमाई

चंदन की खेती आपको कम इन्वेस्टमेंट में करोड़पति तक बना सकती है। यह एक लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट है। चंदन के पेड़ या बीज 15 से 20 सालों में तैयार होते हैं। तब इसका रिटर्न मिलता है। इसकी खेती में सरकार या बाकी प्राइवेट स्कीम में मिलने वाले रिटर्न से भी ज्यादा फायदा मिलता है।

पिछले दिनों गुजरात के भरूच के एक किसान ने 10 लाख लगाकर चंदन की खेती स्टार्ट की थी। 15 से 20 साल में इस खेती से उस किसान ने 15 करोड़ की कमाई की थी। यानी इस हिसाब से प्रति 1 लाख रु का इन्वेस्टमेंट करके 1.5 करोड़ रु का रिटर्न मिला। प्रतिशत में ये रिटर्न 1500% का हुआ।

चंदन की लकड़ी 6 से 7 हजार रुपए किलो बिकती है। कई बार इसके 10 हजार रु तक भी मिल जाते हैं। इन सबके बीच आज हम बता रहे हैं चंदन की खेती कैसे की जा सकती है और इससे कितनी कमाई हो सकती है। आप भी चंदन की खेती कर लाखों-करोड़ों रुपए कमा सकते हैं।

कैसे होती है चंदन की खेती

  • नर्सरी से पौधे लाकर या फिर बीज डालकर चंदन की खेती की जा सकती है।
  • चंदन का पेड़ लाल दोमट मिट्टी में अच्छा उगता है। ये पेड़ चट्टानी मैदान, पथरीली मिट्टी, चूनेदार मिट्टी को भी सहन कर सकते हैं। मिनरल्स और गिली मिट्टी में इसकी ग्रोथ तेजी से नहीं हो पाती।

कब होता है बेस्ट टाइम

  • अप्रैल-मई के महीने में बुवाई (Sowing) के लिए जमीन तैयार की जाती है। बुवाई से पहले एक गहरी जुताई (Tillage) करवाना होती है।
  • 2 से 3 बार खेत को जोता जाता है। वहीं क्यारियों के बीच 30 से 40 सेमी की दूरी भी रखनी होती है।
  • मानसून में इसके पेड़ तेजी से ग्रोथ करते हैं, लेकिन गर्मियों में इन्हें इरीगेशन (सिंचाई) की जरूरत होती है।

इरीगेशन कैसे करना चाहिए

  • इसमें ड्रिप प्रॉसेस से इरीगेशन किया जाता है। ताकि पानी भी कम लगे और जरूरत के मुताबिक सिंचाई भी हो सके।
  • हालांकि, सिंचाई मिट्टी में मॉइश्चर होल्ड करने की कैपेसिटी और मौसम पर भी काफी डिपेंड करती है।
  • चंदन के पेड़ को 5 से 50 डिग्री सेल्सियस टेम्प्रेचर वाले इलाके में लगाना सही माना जाता है।
  • इसके लिए 7 से 8.5 पीएच वाली मिट्टी परफेक्ट होती है।
  • एक एकड़ में औसत 400 पेड़ लगाए जा सकते हैं।

कितना करना पड़ेगा इन्वेस्टमेंट

  • इन्वेस्टमेंट की बात करें, तो चंदन का एक पौधा 40-50 रु का पड़ता है। एक एकड़ जमीन में एवरेज 400 पेड़ लगाए जा सकते हैं। यानी 20 हजार का ये खर्चा।
  • 40 से 50 हजार रुपए खाद में भी खर्च होंगे।
  • इसके बाद आपको 40 से 50 हजार रुपए जाली लगाने में खर्च करने होंगे। ताकि चंदन के पौधे सुरक्षित रहें।

  • चंदन के पेड़ों का इंश्योरेंस भी करवाया जाता है, क्योंकि इन पेड़ों के चोरी का डर होता है। चोरी होने पर इंश्योरेंस कंपनी से आप पैसा ले सकेंगे।
  • सिक्योरिटी के लिए गार्ड अपॉइंट करना होगा। या फिर आप खुद भी इसकी देखरेख कर सकते हैं।
  • इन सबके अलावा सिंचाई पर भी खर्च करना होगा।

 कितने समय में बढ़ते हैं पेड़

  • चंदन लगाने के बाद 5वें साल से लकड़ी रसदार बनना शुरू हो जाती है। 12 से 15 साल के बीच यह बिकने के लिए तैयार हो जाता है।
  • चंदन के पेड़ की जड़ से सुगंधित प्रोडक्ट्स बनते हैं। इसलिए पेड़ को काटने के बजाए जड़ से ही उखाड़ा जाता है।
  • उखाड़ने के बाद इसे टुकड़ों में काटा जाता है। ऐसा करके रसदार लकड़ी को कर लिया जाता है।
  • एवरेज कंडीशन में एक चंदन के पेड़ से करीब 40 किलो तक अच्छी लकड़ी निकल जाती है।

10 लाख से बनाए 15 करोड़ रुपए…

  • गुजरात के भरुच के पास अलपा गांव में रहने वाले अल्पेश पटेल ने मीडिया के साथ अपने चंदन की खेती के एक्सपीरियंस को शेयर किया था।
  • 2003 में जब गुजरात सरकार ने राज्य के किसानों को चंदन की खेती की इजाजत दी तो चंदन की खेती का जोखिम उठाने को कोई तैयार नहीं था।
  • अल्पेश ने करीब 5 एकड़ जमीन पर 1 हजार चंदन के पेड़ लगा दिए। शुरुआत में फसल खराब हो गई। हालांकि अल्पेश ने हार नहीं मानी।
  • 10 लाख रुपए के इन्वेस्टमेंट से शुरू हुई उनकी खेती 15 साल बाद करीब 15 करोड़ रुपए तक पहुंच गई। उन्हें चंदन की खेती से 150 गुना तक का फायदा हुआ। उन्हें राज्य में सर्वश्रेष्ठ किसान का अवॉर्ड भी मिल चुका है।

सबसे महंगा तेल बिकता है

  • चंदन के पेड़ में सबसे महंगी चीज इसका तेल होता है। एक पेड़ की जड़ से करीब पौने 3 लीटर तक तेल निकलता है। बाजार में चंदन के तेल का भाव 2 लाख रुपए लीटर तक है।
  • चंदन की खेती को बढ़ावा देने के लिए कई प्रदेशों में यह प्रावधान किया गया है कि अपने खेत में व्यावसायिक इस्तेमाल के लिए चंदन उगाने वाले किसान उसे काट भी सकेंगे।

कितनी होती है कमाई

  • भारतीय चंदन की खुशबू बाकी देशों के चंदन से 1 से 6 प्रतिशत ज्यादा होती है। इस वजह से भी डिमांड इंटरनेशनल मार्केट में ज्यादा है।
  • रसदार लकड़ी वाला भारतीय चंदन 6 से 7 हजार रुपए प्रति किलो बिकता है। सूखी लकड़ी वाला चंदन 2 से 3 हजार रुपए किलो तक बिकता है।
  • चंदन के 1 पेड़ से लगभग 20 से 40 तक किलो लकड़ी मिल जाती है। बाजार में यह 6 से 7 हजार रुपए किलो तक बिकती है।
  • 7 हजार को हिसाब मानें तो एक पेड़ से पौने तीन लाख रुपए तक की लकड़ी मिल जाती है। एक एकड़ में औसत 400 पेड़ लगते हैं। इस हिसाब से 11 करोड़ रुपए से भी ज्यादा की कमाई इससे की जा सकती है।
  • चंदन के पेड़ में लगभग 2 लीटर तेल निकलता है। तेल के अलावा इसके बीज, सूखी हुई लकड़ी भी महंगे दामों में बिकती हैं।
  • चंदन का इस्तेमाल इत्र, औषधी, धूप, ब्यूटी प्रोडक्ट आदि में किया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *