मोदी सरकार के इस स्कीम से कमा सकते हैं 25 हजार रुपए महीना।

70वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले पर तिरंगा फहराया। इसके साथ ही उन्होंने देशवासियों को संबोधित करते हुए कुछ खास योजनाओं का जिक्र किया। इनयोजनाओं से आम लोगों को फायदा हो रहा है। पीएम मोदी ने जिन योजनाओं का जिक्र किया उसमे महत्वाकांक्षी जन औषधि योजना मुख्य रूप से शामिल है।

पीएम मोदी ने बताया इस महत्वाकांक्षी योजना के जरिये शहरों से लेकर गांवों तक लाभ पहुँच रहा है। सरकार इस ख़ास योजना के जरिये आम लोगों को लगातार कमाई का भी मौक़ा दे रही है जिसका फायदा आप भी उठा सकते हैं। इस योजना का लाभ उठाते हुए आप 25 से 30 हजार रूपये तक कमाई कर सकते हैं। ख़ास बात ये है कि इस स्कीम के तहत बिजनेस शुरू करने के लिए सरकार ने पिछले दिनों नियम में कुछ बदलाव किया है।

जनऔषधि सेंटर खोलने के लिए सरकार ने तीन कैटेगरी बनाई है। पहली कैटेगरी में कोई भी व्यक्ति बेरोजगार, फार्मासिस्ट, डॉक्टर, रजिस्टर्ड मेडिकल, प्रैक्टिशनर स्टोर खोल सकेगा। दूसरी कैटेगरी में ट्रस्ट, एनजीओ, प्राइवेट हॉस्पिटल, सोसायटी और सेल्फ हेल्प ग्रुप को स्टोर खोलने का मौका मिलेगा। तीसरी कैटेगरी में राज्य सरकारों द्वारा नॉमिनेट की गई एजेंसी होगी। वहीं, दुकान खोलने के लिए 120 वर्गफुट एरिया में दुकान होनी जरूरी है।

आप अपने सेंटर के जरिए महीने में जितनी दवाएं सेल करेंगे, उन दवाओं का 20 फीसदी आपको कमिशन के रूप में मिल जाएगा। ट्रेड मार्जिन के अलावा सरकार मंथली सेल पर 10 फीसदी इंसेंटिव देगी, जो आपके बैंक अकाउंट में आ जाएगा। इस तरह से दुकानदार को ट्रेड मार्जिन के अलावा इंसेटिव के रूप में डबल मुनाफा होगा।

यानी अगर वह एक महीने में 1 लाख रुपए तक की दवा सेल करते हैं तो 25 से 30 हजार रुपए तक मंथली इनकम होगी। सेंटर शुरू करने पर 1 लाख रुपए की दवाइयां पहले आपको दवा खरीदनी होगी। बाद में सरकार इसे मंथली बेसिस पर रीइंबर्समेंट करेगी।

कैसे करें आवेदन

स्टोर खोलने के लिए आपके पास रिटेल ड्रग सेल करने का लाइसेंस जन औषधि स्टोर के नाम से होना चाहिए। इसके अलावा कम से कम 120 वर्ग फुट का एरिया किराए पर या ओनरशिप में होना जरूरी है।

-जो व्यक्ति या एजेंसी स्टोरी खोलना चाहता है, वह http://janaushadhi.gov.in/ पर जाकर फार्म डाउनलोड कर सकता है। -उसे अपने एप्लीकेशन को 2000 रुपए के डिमांड ड्रॉफ्ट के साथ ब्यूरो ऑफ फॉर्मा पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग ऑफ इंडिया के जनरल मैनेजर(A&F)के नाम से भेजना होगा।

-ब्यूरो ऑफ फॉर्मा पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग ऑफ इंडिया का एड्रेस जनऔषधि की वेबसाइट पर और भी जानकारी उपलब्ध है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *