घर की छत पर करें मोती की खेती, कमा सकते हैं सालाना लाखों रुपये

हिसार.  घाटे का सौदा बन रही परंपरागत खेती के बीच मोती की खेती किसानों के लिए नई उम्मीद लेकर आई है। थोड़ी सी लागत और जगह में काम शुरू करके किसान सालाना 3 से 4 लाख रुपए तक कमा सकते हैं। महाराष्ट्र के किसानों के बाद प्रदेश के किसानों में भी इस खेती प्रचलन तेजी से बढ़ रहा है। महाराष्ट्र के नागपुर में मोती की खेती हर तीसरे घर में की जा रही है। इसे आप अपने घर की छत्त पर भी कर सकते है ।

इस खेती को शिक्षित और तकनीकी रूप से दक्ष युवा पीढ़ी भी इसे अपना रही है। इसे देखते हुए हरियाणा के किसानों में भी मोती की खेती की तरफ रुझान तेजी से बढ़ रहा है। विशेषकर जींद, हिसार, सिरसा, डबवाली, फतेहाबाद और रोहतक के किसानों ने यह खेती शुरू कर दी है।

50 वर्ग फीट में बनाएं तालाब

मोती की खेती के लिए कोई विशेष जमीन की जरूरत नहीं है। इसे घर में बने कमरे, छत से लेकर खेत तक में शुरू किया जा सकता है। इसके लिए 6 फुट गहरा 5 बाई 10 गुना का छोटा तालाब चाहिए। एक हजार सीप से इसकी शुरुआत कर सकते हैं, जिस पर 5 से 10 रुपए प्रति सीप के हिसाब से खर्चा आएगा। माह में एक बार इनको फीड देना पड़ेगा। विशेष ट्रेनिंग की जरूरत भी नहीं है।

ट्रेनर एवं आयुर्वेदाचार्य, डॉ. जगन मस्ताना ने बताया कि एक सीप से न्यूनतम दस माह में दो मोती निकलते हैं। जिसे बाजार में आसानी से बेचा जा सकता है। एक हजार सीप की खेती से सालाना 3 से 4 लाख रुपए की कमाई कर सकता है। नागपुर से सीखने के बाद अब तक 150 से अधिक किसानों को इस खेती की ट्रेनिंग दे चुका है। खुद भी यह खेती कर रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *