महिंद्रा ने भारत में पेश किया पहला चालक रहित ट्रैक्टर,अब घर बैठकर होगी खेती

ऑटोमोबाइल कंपनी महिन्द्रा ने भारत में पहली बार ड्राइवरलेस (चालक रहित) ट्रैक्टर को लॉन्च किया है। ड्राइवरलेस ट्रैक्टर को लेकर महिन्द्रा एंड महिन्द्र कंपनी ने कहा, यह ड्राइवरलेस ट्रैक्टर दुनिया भर के किसानों को ध्यान में रखते हुए लांच किया गया है।

कंपनी के बयान के मुताबिक इस ट्रैक्टर को चेन्नई में स्थित ग्रुप के इनोवेशन और टेक्नोलॉजी हब महिन्द्रा रिसर्च वैली में विकसित किया गया है। यह ड्राइवरलेस ट्रैक्टर वैश्विक किसानों के लिए मशीनीकरण की प्रक्रिया को फिर से परिभाषित करने के लिये पूरी तरह से तैयार है। कंपनी का दावा है कि यह इस नई तकनीक से कृषि के भविष्य में बड़ा बदलाव आएगा।

महिन्द्रा एंड महिन्द्रा लिमिटेड के अध्यक्ष (फॉर्म इक्विपमेंट सेक्टर) राजेश जेजुरिकर ने कहा, ‘वर्तमान में कृषि संबंधित मशीनों की जरूरत पहले से बहुत ज्यादा है। मजदूरों की कमी और उत्पादकता और कृषि उत्पादित क्षेत्रों को बेहतर बनाने की जरूरत इसका प्रमुख कारण हैं।

हमने पिछले साल अपनी ‘डिजिसेंस’ टेक्नोलॉजी को लॉन्च किया था और अब चालक रहित ट्रैक्टर की पेशकश कर रहे हैं। इनके जरिए भारतीय किसानों को ट्रैक्टर के लिए इंटेलीजेंस के बेमिसाल स्तर को पेश किया जाएगा।’

टैबलेट के जरिए कंट्रोल

ट्रैक्टर में जियोफेंस लॉक लगा हुआ है जो इसे खेत की मेंढ़ के अंदर बने रहने में मदद करता है, ट्रैक्टर को टैबलेट की मदद से दूरदराज के इलाकों में कंट्रोल किया जा सकता है। ट्रैक्टर में जीपीएस आधारित ऑटोस्टीर टेक्नोलॉजी लगी हुई है जो इसे एक सीधी लाइन में चलने में मदद करती है।

इसमें एक ऑटो लिफ्ट भी लगी हुई है जो खेती के समय औजारों को अपने आप खेत जोतने के लिए नीचे कर देगी और काम पूरा होने के बाद औजारों को अपने आप ऊपर उठा लेगी। बिना ड्राइवर के खेत जोतने के लिए ट्रैक्टर में कई तकनीक को इस्तेमाल किया गया है।

फीचर और इंजन

महिंद्रा के इस ट्रैक्टर में 20 हॉर्सपॉवर से 100 हॉर्सपॉवर ताकत वाले इंजन के साथ लांच कर सकती है। यह ट्रैक्टर ड्राइवरलेस तकनीक को ध्यान में रखकर बनाया गया है। फीचर के चलते ग्राहकों को जीपीएस बैसेड तकनीक पर ऑटोस्टीयर दिया है। जिसके कारण ट्रैक्टर सीधी लाइन में चलता है। इसके अलावा ऑटो हैंडलेड टर्न का भी फीचर दिया है। जो ट्रैक्टर को मोड़ने में मदद करता है।

वीडियो भी देखें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *