नौकरी नहीं मिली तो शुरू की गुलाब की खेती, हर महीने 50 हजार रु कर रही इनकम, लोन लेकर शुरू किया बिजनेस

इजहार-ए-मोहब्बत का प्रतीक माना जाने वाला गुलाब अपनी विभिन्न रंगों और दिलकश खुशबू के चलते सबके दिलों पर राज करता है। बच्चे से लेकर बूढ़े तक इसके दीवाने हैं। Rose के प्रति दिनोंदिन बढ़ रहे लोगों के प्यार ने महाराष्ट्र के नागपुर के माणेवाडा की रहने वाली प्रणाली शेवाले को इसकी खेती के लिए आकर्षित किया। एग्रीकल्चर में डिप्लोमा करने बाद नौकरी नहीं मिली तो उसने गुलाब की खेती शुरू की और आज वह हर महीने इससे 50 हजार रुपए की इनकम कर रही हैं।

दो महीने की ली ट्रेनिंग

प्रणाली ने मनीभास्कर को बताया कि उन्होंने हॉर्टिकल्चर में डिप्लोमा किया है। डिप्लोमा करने के बाद नौकरी की तलाश की, लेकिन इसमें सफलता नहीं मिली। बचपन से गुलाब के प्रति प्यार के चलते उनको इसमें बिजनेस का मौका दिखा।

उन्होंने देखा कि बाजार में गुलाब की मांग काफी ज्यादा है। जन्मदिन, सालगिरह, वैलेंटाइन डे और मदर्स डे जैसे अवसर पर गुलाब के इस्तेमाल का चलन बढ़ा है। इसलिए उन्होंने नागपुर स्थित एग्री क्लिनिक एंड एग्री बिजनेस सेंटर्स से दो महीने की ट्रेनिंग ली। ट्रेनिंग पूरी होने के बाद प्रणाली पॉलीहाउस एंड फ्लोरिकल्चर की शुरुआत की।

13 लाख का लोन ले शुरू की गुलाब की खेती

ट्रेनिंग पूरी करने के बाद प्रणाली ने अपने पिता की मदद से एक एकड़ जमीन लीज पर लेकर गुलाब की खेती के लिए पॉलीहाउस का निर्माण किया। शुरुआत में उनके इस प्रोजेक्ट पर किसी बैंक को भरोसा नहीं होने की वजह से 6 महीने तक लोन मिलने का इंतजार किया।

छह महीने बाद बैंक ऑफ इंडिया से उन्हें 13 लाख रुपए का लोन लिया। 13 लाख का लोन और कुछ जमा पूंजी से 10,000 वर्ग फुट में पॉलीहाउस बनाकर टॉप सीक्रेट वैरायटी के साथ गुलाब की खेती शुरू की। इस प्रोजेक्ट पर उनको कुल 16 लाख रुपए का खर्च आया। उन्होंने नवंबर 2016 में प्रणाली पॉलीहाउस एंड फ्लोरिकल्चर की नींव रखी थी।

सब्सिडी मिलने का इंतजार

प्रणाली कहती हैं कि बैंक लोन पर उनको नाबार्ड से 44 फीसदी की सब्सिडी मिली थी। लेकिन डेढ़ साल से ज्यादा समय बीत जाने के बावजूद उनको अभी तक सब्सिडी नहीं मिली है। इसलिए लोन का इंटरेस्ट भरना भारी पड़ रहा है।

मंथली 50 हजार हो जाती है इनकम

प्रणाली के मुताबिक, गुलाब की खेती से वह हरेक महीने 50 हजार रुपए की कमाई कर लेती हैं। कभी-कभी कमाई कम भी होती है। पहली बार उनको गुलाब की खेती से 35 हजार रुपए का मुनाफा हुआ था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *