70 साल के किसान ने 3 साल तक तोड़ा पहाड़ और बना डाली नहर, गांव में पानी लाने की ठानी थी

ओडिशा में एक किसान ने अपनी मेहनत से गांव के सैकड़ों लोगों की मुश्किलें दूर कर दीं। 70 साल के दैत्री नायक ने तीन साल कड़ी मेहनत करके गांव में एक किलोमीटर लंबी नहर खोद डाली। वो भी तब जबकि ये इलाका बहुत ही पथरीला था। लिहाजा, पानी की कमी से जूझ रहे गांव के लोगों को नहर बनने के बाद रोजमर्रा के काम और खेती के लिए भरपूर पानी मिल सकेगा।

  • मामला केन्दुझर जिले का है। यहां बांसपाल, तेलकोई और हरिचंदपुर ब्लॉक में सिंचाई के लिए कोई इंतजाम नहीं था। खेती के लिए लोगों को बारिश के पानी पर ही निर्भर रहना पड़ता था। वहीं, रोजमर्रा के काम के लिए भी वो लोग तलाब के गंदे पानी का इस्तेमाल कर रहे थे।

  • प्रशासन ने इस पहाड़ी इलाके में पानी के लिए कोई इंतजाम नहीं कराया था। ऐसे में बैतरणी गांव के दैत्री नायक ने यहां पानी लाने की ठानी। दैत्री ने बताया, ”मैंने अपने परिवार के साथ नहर बनाने का काम शुरू किया। पानी के इंतजाम के लिए मैंने तीन साल तक पहाड़ों को तोड़ा और खुदाई की। मेरे परिवार वालों ने पत्थर हटाने में मेरी मदद की। नहर खुदने के बाद पिछले महीने गांव में पानी लाया जा सका है।”

अब नींद से जागा प्रशासन

केन्दुझर डिवीजन में माइनर इरिगेशन के इंजीनियर सुधाकर बेहरा ने बताया, ”हमें रिपोर्ट्स मिली हैं कि एक शख्स ने कर्नाटक नाला से पानी लाने के लिए नहर खोदी है, ताकि खेती में सुविधा हो सके। हम उस गांव का दौरा करेंगे और वहां सिंचाई की व्यवस्था के लिए जरूरी कदम उठाएंगे।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *