इस शख्स को टमाटर ने बना दिया करोड़पति

शहडोल। बढ़ता कैरियर अब लोगों के जीवन का महत्वपूर्ण लक्ष्य बन गया है। कैरियर बनाना एक बहुत बड़ी यात्रा है और आपको इसे सही बनाने के लिए बहुत संघर्ष करना पड़ता है। तेजी से आगे बढ़ने की होड़ में लोग नौकरी से ज्यादा स्वयं के रोजगार को करने के लिए आगे बढ़ रहे हैं। अगर आप भी इसी राह में आगे बढ़ना चाहते हैं तो आपके पास भी कई ऑप्शन मौजूद हैं।

आप भी अपना व्यवसाय शुरू करके घर बैठे लाखों रुपए कमा सकते हैं। इसी राह में एक शख्स टमाटर की खेती करके 3 से 4 करोड़ रुपए सालाना टर्न ओवर कर रहा है। 10 एकड़ की जमीन से सब्जी उत्पादन के व्यवसाय की शुरुआत करने वाले पुरानी बस्ती निवासी किसान पवन मिश्रा बीते कई सालों से ये काम कर रहे हैं।

देश भर में पहुंचाए जा रहे टमाटर

आपको बता दें बउमरिया जिले के घुनघुटी में लगभग 125 एकड़ क्षेत्र में मां कंकाली कृषि समूह के आठ किसानों ने सब्जी की खेती कर सफलता के नए कीर्तिमान स्थापित किए हैं। किसानों द्वारा उत्पादित सब्जी उत्पादों ने शहडोल संभाग ही नहीं देश के दिल्ली, बैंगलोर, रीवा, सतना, जबलपुर, रायपुर आदि महानगरों के बाजार में अपनी पहचान बनाई है। इन किसानों के द्वारा उत्पादित टमाटर और अन्य सब्जियां ट्रकों में भरकर दिल्ली, बैंगलोर और देश के अन्य बड़े बाजारों में पहुंचाई जा रही है, जिससे किसानों को सीधा लाभ हो रहा है।

बैंक ने दिए 5 लाख रुपए

अपने रोजगार में सफल होने वाले किसान पवन मिश्रा ने बताया कि उन्होंने टमाटर की खेती की शुरूआत सबसे पहले विचारपुर और सिंदुरी क्षेत्र से की थी। यहां पर सफल होने के बाद उद्यानिकी विभागों के अधिकारियों से सलाह लेने के बाद उन्होंने आज से दस साल पहले उन्होंने ग्राम सिंदुरी और विचारपुर में 10 एकड़ भूमि पर टमाटर के खेती की शुरूआत की।

इस काम को करने के लिए कृषि विभाग के अधिकारियों ने अपनी सलाह के साथ ही ड्रिप एरीकेशन के लिए 5 लाख रुपए भी बैंक के माध्यम से दिए गए। इस खेती को शुरू करने के बाद लगातार पवन मिश्रा को इससे लाभ हुआ है। उनका कहना है कि टमाटर की खेती से बहुत लाभ हो रहा है। जिस कारण उन्होंने बाद में टमाटर के साथ मिर्ची, लौकी, खीरा, बरबटी, आलू, लहसुन और प्याज की खेती शुरू की। उन्होंने बताया कि सब्जियों की खेती करने से उन्हें काफी लाभ हुआ जिसके कारण उन्होने अन्य किसानों को भी समूह बनाकर सब्जी की खेती करने की सलाह दी।

लोगों को दिया रोजगार

टमाटर की खेती से लाभ होने के बाद उमरिया जिले के लगभग 8 किसानों द्वारा मां कंकाली कृषि समूह का निर्माण किया गया साथ ही लगभग 125 एकड़ भूमि पर सब्जी की उन्नत खेती करने की कार्य योजना बनाई। पवन मिश्रा ने बताया कि लगातार सजगता एवं कृषि वैज्ञानिकों की सलाह के कारण संभाग के ग्राम पंचायत सिंदुरी, विचारपुर और घुनघुटी में सब्जी उत्पादन के क्षेत्र में नए आयाम स्थापित किए हैं।

सब्जी उत्पादन का वार्षिक टर्नओवर लगभग 3 से 4 करोड़ रुपए है। क्षेत्र के लगभग 200 लोगों को रोजगार मिला है। उन्होंने बताया कि संभाग के टमाटर की बहुत ज्यादा मांग है। सब्जी व्यापारियों के ट्रक खेतों में पहुंचकर सब्जियों का उठाव करते हैं। उन्होंने बताया कि संभाग के अन्य किसान भी सब्जी उत्पादन के क्षेत्र में आगे आ रहे हैं। इससे सभी को लाभ हो रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *