इस ऐप की मदद से जब चाहे मंगवायें ट्रेक्टर और मशीने,नहीं पड़ेगी खरीदने की जरूरत

दोस्तों हम सब जानते है के भारत के किसान गरीब और छोटी जोत का मालिक है वो मेहनती तो बहुत है लेकिन उसके पास इतने पैसे नहीं के वो खेती के लिए आधुनिक यंत्र खरीद सके ।लेकिन आपको पता है आज कल के ज़माने में बिना आधुनिक यंत्र जैसे ट्रेक्टर और बाकि खेतीबाड़ी के मशीनों से खेती करना लगभग न मुमकिन है ।

लेकिन ऐसे किसानो को अब चिंता करने की जरूरत नहीं क्योंकि सरकार ने इसका हल ढूंढ लिया है ।अभी तक तो आप मोबाइल ऐप की मदद से कैब वगैरह ही मंगाते थे, लेकिन अब सरकार ने एक ऐसी ऐप लांच की है जिस से आप ट्रैक्टर समेत खेती के लिए काम आने वाली बहुत सारी मशीन भी मंगा सकते हैं। यह सरकारी ऐप ठीक उसी तरह काम करता है, जैसे ओला, उबर के ऐप काम करते हैं।

Advertisement

कृषि मंत्रालय का ‘CHC Farm Machinery’ ऐप Play Store से डाउनलोड किया जा सकता है। यह ऐप अंग्रेजी, हिंदी, उर्दू, नेपाली, कन्‍नड, मराठी, बंगाली समेत 12 अलग-अलग लैंग्‍वेज में मौजूद है।

इसके लिए 35 हजार कस्टम हायरिंग सेंटर्स देशभर में बनाए जा चुके हैं, जिनकी क्षमता 2.5 लाख खेती वाले उपकरण सालाना किराये पर देने की है। इसमें आपको ट्रैक्‍टर, ट्रेलर, हैप्‍पी सीड, थ्रेसर समेत 25 से ज्‍यादा उपकरण मिलेंगे।

इस लिए अब किसान बिना कोई बड़ा खर्च किये अपनी जरूरत के हिसाब से किराये पर मशीन मंगवा सकते है और इस्तेमाल करके वापिस कर जिस से आपको रख रखाव का खर्च भी नहीं देना पड़ेगा ।आपको बता दे के यह सुविधा तब ही मिल सकेगी अगर कस्टम हायरिंग सेंटर्स आपके खेत से 50 किलोमीटर के भीतर है ।