अब किसान करेंगे डीज़ल की खेती, नोटों की होगी बरसात

हमारे देश के किसानों की हालत कुछ ज्यादा अच्छी नहीं हैं क्योकि ज्यादातर किसानों को फसलों का उचित मूल्य नहीं मिल पाता जिससे उनका खर्चा भी बहुत मुश्किल से चलता है। लेकिन अब किसानों के पास जल्द ही एक ऐसा मौका आने वाला है जिससे नोटों की बारिश होगी।

इसके बाद किसानों की आमदन कई गुना तक बढ़ जाएगी। आपको बता दें कि अब जल्द ही गाड़ियां 100 रुपए प्रति लीटर से भी ज्यादा महंगे पेट्रोल और डीज़ल की जगह पूरी तरह से सिर्फ इथेनॉल पर चलाई जा सकेंगी। इसका सीधा फायदा देश के किसानों को मिलेगा।

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी का कहना है कि अब दो पहिया एवं चार पहिया वाहन जल्द ही इथेनॉल पर चलेंगे। उन्होंने कहा कि इसका सबसे बड़ा फायदा देश के किसानों को होगा। गडकरी ने साथ ही ये भी कहा कि सरकार ने एथेलॉन के पंप की अनुमति दे दी है।

यानि अब देश में सभी वाहन किसान के बनाए हुए 62 रुपये लीटर इथेनॉल से चलेंगे। नितिन गडकरी का कहना है कि किसान अब देश का अन्नदाता होने के साथ साथ ऊर्जादाता भी होगा। आपको बता दें कि इथेनॉल पूरी तरह से किसानों द्वारा उगाई गयी कई प्रकार की फसलों से तैयार होता है।

जैसे की मक्के की फसल, गन्ने की फसल और इसी तरह से बहुत सी फसलों से इथेनॉल तैयार किया जाता है। ऐसे में जब गाड़ियां पूरी तरह से इथेनॉल पर चलने लगेंगी तो इसकी डिमांड काफी ज्यादा बढ़ेगी और किसानों को फसलों के रेट भी ज्यादा मिलेंगे। इसी तरह किसानों की आमदनी कई गुना तक बढ़ जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.