प्रधान मंत्री मोदी ने छोड़े खेतों में बड़े ड्रोन, जानें क्या है इरादा

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने कृषि क्षेत्र में बड़े बदलाव की तैयारी के साथ शुक्रवार को देश में 100 किसान ड्रोन का उद्घाटन किया। ये ड्रोन देश के अलग अलग शहरों और कस्बों के खेतों में उड़े। आपको बता दें कि ये ड्रोन से खेतों में दवाओं का छिड़काव करने के काम आएंगे। जानकारी के अनुसार पीएम ने किसानों की मदद करने के उद्देश्य से एक विशेष अभियान के तहत इन ड्रोनों का उद्घाटन किया।

प्रधान मंत्री ने इस मौके पर कहा कि पहले हम सभी ड्रोन का नाम सुनकर ये सोचते थे कि यह सेना से जुड़ी कोई व्यवस्था है या दुश्मनों से मुकाबला करने के उपयोग में काम आने वाली चीजें हैं। लेकिन अब 21वीं सदी में ये आधुनिक खेती की व्यवस्था की दिशा में एक नया अध्याय है।

मोदी जी ने कहा की , ‘मुझे विश्वास है कि यह शुरुआत ड्रोन सेक्टर के विकास में मील का पत्थर साबित होने के साथ साथ इसमें संभावनाओं का अनंत आसमान भी खुलेगा।’ इस दौरान पीएम ने ये भी कहा कि गरुड़ एयरस्पेस द्वारा ये लक्ष्य रखा गया है कि अगले दो सालों में एक लाख मेड इन इंडिया ड्रोन बनाए जाएंगे।

ऐसे में रोजगार के भी नए अवसर पैदा होंगे और युवाओं के लिए नए ये इसे बढ़िया अवसर के रूप में देखा जा रहा है।हाल  ही में पेश किये गए बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कृषि और कृषि क्षेत्र के लिए एक बड़ा एलान किया था।

उन्होंने कहा था कि वित्त वर्ष 2022-23 का बजट देश के किसानों को डिजिटल और नई तकनीक की सेवाओं के लिए किसान ड्रोन, केमिकल मुक्त जैविक खेती, सार्वजनिक-निजी भागीदारी को बढ़ावा देगा। णता दें कि ड्रोन से किसानों का समय और खर्चा भी बचेगा और साथ ही किसानों की आमदनी बढ़ेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.