रूस-यूक्रेन के युद्ध से इस कारण महंगी हो जाएगी खेती, किसानों को होगा बड़ा नुकसान

जैसे कि आप जानते हैं कि पिछले काफी दिन से रूस के यूक्रेन के ऊपर हमला करने के बाद लगातार इन दोनों देशों में युद्ध जारी है। इस युद्ध का भारत पर भी काफी असर देखने को मिल रहा है। इस युद्ध से हमारे देश के किसानों को भी काफी बड़ा नुकसान होने वाला है और अब खेती काफी ज्यादा महंगी हो जाएगी।

आपको बता दें कि रूस द्वारा यूक्रेन पर किए गए हमले के बाद पैट्रोलियम पदार्थों और खाद्य तेलों की महंगाई बढ़ने की संभावना है। इस युद्ध का सबसे बड़ा असर आने वाले दिनों में देश किसानों पर दिखेगा। लगभग पुरे देश में गेहूं की कटाई शुरू होने वाली है और इसके बाद मई महीने में ही खेतों में नई बुआई होनी है।

जानकारी के अनुसार इस युद्ध के प्रभाव से अंतर्राष्ट्रीय बाजार में यूरिया, DAP. और एम.ओ.पी. की कीमतें आसमान में पहुंच गई हैं। ये खादें लगभग सभी फसलों के लिए सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण हैं। इसके साथ ही खेतों में इस्तेमाल होने वाले डीजल और बीजों की कीमतों में भी भारी उछाल देखने को मिल रहा है। ऐसे में किसानों की लागत बहुत ज्यादा बढ़ जाएगी।

आपको बता दें कि रूस एम.ओ.पी का दूसरा बड़ा निर्यातक है। ऐसे में रूस और बेलारूस पर लग रही अंतर्राष्ट्रीय पाबंदियों के कारण दुनिया भर में एम.ओ.पी. की आपूर्ति रुक चुकी है जिसका असर इसकी कीमतों के साथ यूरिया और DAP की कीमतों पर भी पड़ रहा है। बता दें कि पिछले एक महीने में यूरिया की अंतर्राष्ट्रीय कीमतें 50 प्रतिशत, MOP की कीमतों में 35 और DAP की कीमतें 6 फीसदी तक बढ़ चुकी हैं।

इसी तरह यूक्रेन और रूस सूरजमुखी के तेल के सबसे बड़े उत्पादक देश हैं और साथ ही दोनों देश बड़े लेवल पर सूरजमुखी के बीज का भी निर्यात करते हैं। लेकिन अब दोनों देशों में चल रही लड़ाई के कारण सूरजमुखी के तेल और बीज की आपूर्ति में भी समस्या आ रही है। जिसके कारण बाजार में सूरजमुखी के बीज की ब्लैक शुरू हो गई है। किसानों को सूरजमुखी का बीज दोगुने भाव पर मिल रहा है जिससे उनकी लागत बढ़ रही है।

इस युद्ध के कारण अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम भी बढ़ चुके हैं और पैट्रोलियम कंपनियां लगातार डीजल के दाम भी बढ़ा रही हैं। किसानों को सिंचाई,जुताई और फसल को मंडी तक पहुंचाने के काम के लिए काफी ज्यादा डीज़ल की जरूरत पड़ती है। डीज़ल के दाम बढ़ने से किसानों का डीज़ल का खर्चा भी काफी ज्यादा बढेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.