जानें गुलाबी सुंडी से कपास की फसल को बचाने का नया तरीका

कपास की फसल में गुलाबी सुंडी की समस्या काफी ज्यादा बढ़ रही है और खासकर पंजाब में कपास की फसल में गुलाबी रंग की सुंडी से किसानों की फसलों को भारी नुकसान होता है। जिस वजह से किसानों का मुनाफा बहुत कम हो रहा है और नुकसान बढ़ता जा रहा है। लेकिन अब कृषि विभाग के वैज्ञानिकों द्वारा किसानों की फसल को गुलाबी सुंडी के प्रकोप से बचाने के लिए खास तैयारी की गई है।

आपको बता दें कि कृषि विभाग द्वारा किसानों को अलग – अलग क्षेत्रों में जाकर गुलाबी सुंडी से बचाव के लिए जागरूक किया जा रहा है। कृषि विभाग के अधिकारियों ने बताया कि गुलाबी सुंडी के कारण पिछले साल कपास की फसलों को काफी नुकसान हुआ था। इसी लिए किसानों को इस के बचाव के लिए कपास फसल की बुवाई के पहले ही जागरूक किया जा रहा है।

ऐसा करने से कपास की फसल को गुलाबी सुंडी से बर्बाद होने से बचाया जा सकेगा। अधिकारीयों द्वारा इसके लिए विभाग की टीम को खेतों में भेज कर फसलों का दौरा भी करवाया जा रहा है। इसी तरह मनरेगा कारगारों की भी फसलों की निगरानी के लिए दौरे की ड्यूटी लगा रखी हैं।

इसके अलावा कपास फसलों की छट्टियों को आग लगा दी, जिससे नरमे की फसल का गुलाबी सूंडी से बचाव हो सके। हलाकि किसानों का कहना है कि फसलों को आग लगाने से ही नहीं बचाव हो सकेगा। किसानों ने राज्य सरकार से भी फसलों से होने वाले नुकसान की भरपाई के लिए किसानों की फसलों का बीमा करने के लिए कहा।

ऐसा करने से किसानों का नुकसान से बचाव हो सकेगा। इसके साथ ही कृषि विभाग से किसानों ने ये मांग की कि सभी किसान भाईयों को अच्छी किस्म के बीज प्रदान किए जाएं, जिनमें रोग और कीट का प्रकोप कम होता हो। इसी तरह से अब गुलाबी सुंडी के प्रकोप से फसलों को बचाया जा सकेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.